ताज़ा समाचार (Fresh News)

Home » , , » रेल मंत्रालय ने 45 प्रमुख स्टेशनों से शुरू की ई-खानपान सेवा

रेल मंत्रालय ने 45 प्रमुख स्टेशनों से शुरू की ई-खानपान सेवा


2015-16 की रेल बजट घोषणा के अनुरूप भारतीय रेल ने भारतीय रेल खानपान एवं पर्यटन निगम लिमिटेड (आईआरसीटीसी) के जरिये ई-खानपान सेवाएं शुरू की हैं। इनका उद्देश्य रेल गाड़ियों में यात्रियों को उनकी पसंद का भोजन उनकी सीट पर ही उपलब्ध कराना है। जिन रेल गाड़ियों में भोजन-यान की सुविधा नहीं है, ऐसी 28 गाड़ियों में यह सेवा उपलब्ध कराने की शुरूआत की गई है। यह सेवा अब 1516 गाड़ियों में उपलब्ध है।

यात्रियों के लिए भोजन की उपलब्धता और गुणवत्ता में सुधार के लिए यात्रियों की सलाह पर रेल मंत्रालय ने रेल आधारित ई-खानपान योजना में विस्तार करने का निर्णय किया है। यह स्टेशन आधारित ई-खानपान सेवा के अतिरिक्त होगा। पहले चरण में पायलेट आधार पर ई-खानपान सेवा 45 प्रमुख स्टेशनों पर उपलब्ध करायी जाएगी। संशोधित योजना के तहत यात्रियों को निजी खानपान सेवा प्रदाताओं द्वारा आगामी स्टेशन पर यात्रियों की पसंद का भोजन प्रदान किया जाएगा। स्टेशन आधारित ई-खानपान सेवा केवल स्टेशनों पर उपलब्ध होगी, न कि चलती गाड़ी में।

योजना के अंतर्गत 45 स्टेशनों में हावड़ा, सियालदह, गुवाहाटी, न्यू जलपाईगुड़ी, पटना, भुवनेश्वर, विशाखापट्टनम, मुगलसराय, कानपुर सेंट्रल, लखनऊ जंक्शन, वाराणसी, जयपुर, बिलासपुर, खड़गपुर, इलाहाबाद, लखनऊ (उत्तर रेलवे), गोरखपुर, आनंद विहार टर्मिनल, हजरत निजामुद्दीन, नई दिल्ली, दिल्ली, अमृतसर, चंडीगढ़, लुधियाना, सिकंदराबाद, तिरुपति, विजयवाड़ा, चेन्नई सेंट्रल, चेन्नई एग्मोर, एर्नाकुलम जंक्शन, कालीकत, मदुरै जंक्शन, त्रिशूर, तिरूवन्तपुरम सेंट्रल, बैंगलुरू सिटी, यशवंतपुर, नागपुर, पुणे, आगरा कैंट, ग्वालियर, झांसी, भोपाल, अहमदाबाद, मुंबई सेंट्रल, सूरत, वडोदरा शामिल हैं। जितनी गाड़ियां इन 45 स्टेशनों से होकर गुजरेंगी, उन सभी गाड़ियों में ई-खानपान सेवा उपलब्ध होगी। इसके अलावा आईआरसीटीसी अपने फूडप्लाजा और फास्टफूड इकाइयों के जरिये सस्ता भोजन “जन आहार” भी उपलब्ध कराएगा।

पाइलेट परियोजना के नतीजों के आधार पर यह स्टेशन आधारित ई-खानपान सेवा अन्य स्टेशनों पर भी उपलब्ध कराई जाएगी।

ई-खानपान सेवा www.ecatering.irctc.co.in पर ऑनलाइन या 0120-2383892-99 पर टेलीफोन करके अथवा टोलफ्री नम्बर 1800-1034-139 पर प्राप्त की जा सकती है। यात्री अपना पीएनआर नम्बर और सीट नम्बर दर्ज करते हुए 139 नम्बर पर एसएमएस भी कर सकते हैं। इस सेवा का नाम “फूड ऑन ट्रैक” रखा गया है।

इस सेवा का उद्देश्य यात्रियों को बेहतर गुणवत्ता और स्वास्थ्यपूर्ण भोजन उपलब्ध कराना है, जो यात्रियों को उनकी सीट पर ही उपलब्ध कराया जाएगा। यात्री अब अपनी पसंद का भोजन पहले ही चुन सकते हैं, जिन्हें उपरोक्त वेबसाइट या टेलीफोन या एसएमएस द्वारा प्राप्त किया जा सकता है। मोबाइल एप्प द्वारा भी यह सुविधा जल्द शुरू की जाएगी। भोजन के लिए भुगतान ऑनलाइन भुगतान सेवा द्वारा प्रीपेड प्रणाली से या भोजन प्राप्त होने पर नकद द्वारा किया जा सकता है। उल्लेखनीय है कि ई-खानपान सेवा तेजी से बढ़ रही है और अक्टूबर में 400 से अधिक बुकिंग हुई थी।

आईआरसीटीसी ने सेवा प्रदाताओं और भोजन उपलब्धकर्ताओं के साथ ऐसी व्यवस्था की है कि यात्रियों को उनके द्वारा बुक किया गया भोजन समय पर उपलब्ध हो सके। यह भोजन रेलवे/ आईआरसीटीसी द्वारा अधिकृत व्यक्ति उपलब्ध कराएंगे। यात्रियों को भुगतान रसीद इलेक्ट्रानिक आधार पर या प्रिंटेड रसीद दी जाएगी। यात्री आईआरसीटीसी द्वारा निर्धारित समय के अंदर अपनी बुकिंग रद्द करवा सकते हैं। यह सुविधा भी यात्रियों को दी जाएगी। यदि भुगतान पहले किया जा चुका हो तो उसकी रकम वापस करने के लिए आईआरसीटीसी व्यवस्था करेगा और बुकिंग रद्द करने का शुल्क काटकर शेष रकम यात्री को वापस कर दी जाएगी।

आईआरसीटीसी ने विभिन्न प्रकार के भोजन उपलब्ध कराने के लिए प्रतिष्ठित खानपान कंपनियों के साथ समझौता किया है। इसके तहत पारंपरिक भोजन-थाली से लेकर पिज्जा आदि खाद्य पदार्थ उपलब्ध कराया जाएगा। इसके लिए केएफसी, मैक्डानल्ड, हल्दीराम, बीकानेरवाला, निरूला, सागर रत्ना, वांग्स किचन, श्रवण भवन, सब-वे, डोमिनो, पिज्जा हट और केलॉग्स जैसी कंपनियों को आमंत्रित किया गया है। आईआरसीटीसी हर स्टेशन के लिए कम से कम 5 कंपनियों/ ब्रांडों को चुनकर उनका पैनल बनाएगी।

आईआरसीटीसी/ रेलवे नियमित रूप से स्टेशनों पर निरीक्षण और जांच करेगी ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि इस योजना के तहत यात्री जिस भोजन की बुकिंग कर रहे हैं वह सही मात्रा में, बेहतर गुणवत्ता में और सही कीमत पर साफ-सुथरे तरीके से यात्रियों को प्राप्त हो सके।

विदित हो कि स्टेशनों और गाड़ियों में भोजन उपलब्ध कराने के लिए आईआरसीटीसी एकमात्र कंपनी है। भोजन की बुकिंग और विवरण प्राप्त करने के लिए यात्री www.ecatering.irctc.co.in पर लॉग ऑन कर सकते हैं और 0120-4383892/9 या 1800-1034-139 पर संपर्क कर सकते हैं।  

0 comments :

Post a Comment

Join our WhatsApp Group

Join our WhatsApp Group
Join our WhatsApp Group

फेसबुक समूह:

फेसबुक पेज:

शीर्षक

भाजपा कांग्रेस मुस्लिम नरेन्द्र मोदी हिन्दू कश्मीर अन्तराष्ट्रीय खबरें पाकिस्तान मंदिर सोनिया गाँधी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ राहुल गाँधी मोदी सरकार अयोध्या विश्व हिन्दू परिषद् लखनऊ उत्तर प्रदेश मुंबई गुजरात जम्मू दिग्विजय सिंह मध्यप्रदेश श्रीनगर स्वामी रामदेव मनमोहन सिंह अन्ना हजारे लेख बिहार विधानसभा चुनाव बिहार लालकृष्ण आडवाणी स्पेक्ट्रम घोटाला मस्जिद अहमदाबाद अमेरिका नितिन गडकरी पटना भोपाल सुप्रीम कोर्ट चुनाव कर्नाटक सपा आतंकवाद सीबीआई आतंकवादी पी चिदंबरम ईसाई बांग्लादेश हिमाचल प्रदेश उमा भारती बेंगलुरु अरुंधती राय केरल जयपुर उमर अब्दुल्ला पंजाब महाराष्ट्र हिन्दुराष्ट्र इस्लामाबाद डा़ प्रवीण भाई तोगड़िया मोहन भागवत राष्ट्रमंडल खेल वाशिंगटन शिवसेना सैयद अली शाह गिलानी अरुण जेटली इंदौर गंगा धर्म परिवर्तन हिंदू गोधरा कांड बलात्कार भाजपायूमो मंहगाई यूपीए सुब्रमण्यम स्वामी चीन बी. एस. येदियुरप्पा भ्रष्टाचार साध्वी प्रज्ञा हैदराबाद कश्मीरी पंडित काला धन गौ-हत्या चेन्नई दवा उद्योग नीतीश कुमार शिवराज सिंह चौहान शीला दीक्षित सुषमा स्वराज हरियाणा हिंदुत्व अशोक सिंघल इलाहाबाद कोलकाता चंडीगढ़ जन लोकपाल विधेयक तमिलनाडु नई दिल्ली नागपुर मुजफ्फरनगर मुलायम सिंह रविशंकर प्रसाद स्वामी अग्निवेश अखिल भारतीय हिन्दू महासभा आजम खां उत्तराखंड फिल्म जगत ममता बनर्जी मायावती लालू यादव अजमेर प्रणव मुखर्जी बंगाल विकीलीक्स आशाराम बापू ओसामा बिन लादेन नक्सली मालेगांव विस्फोट अटल बिहारी वाजपेयी अरविंद केजरीवाल एबीवीपी कपिल सिब्बल क्रिकेट तरुण विजय तृणमूल कांग्रेस बजरंग दल बाल ठाकरे राजिस्थान वरुण गांधी वीडियो हरिद्वार गोवा बसपा मनीष तिवारी शिमला सिख विरोधी दंगे सिमी सोहराबुद्दीन केस असम इसराइल एनडीए कल्याण सिंह पेट्रोल प्रेम कुमार धूमल सैयद अहमद बुखारी अनुच्छेद 370 जदयू भारत स्वाभिमान मंच हिंदू जनजागृति समिति आम आदमी पार्टी विडियो-Video हिंदू युवा वाहिनी कोयला घोटाला मुस्लिम लीग छत्तीसगढ़ हिंदू जागरण मंच सीवान

लोकप्रिय ख़बरें

ख़बरें और भी ...

राष्ट्रवादी समाचार. Powered by Blogger.

नियमित पाठक

Google+ Followers