ताज़ा समाचार (Fresh News)

दिग्विजय सिंह ने फिर बटला हाउस मुठभेड़ को फर्जी बताया

बटला हाउस मुठभेड़ मुद्दे को दिग्विजय ने फिर से उछालते हुए कहा कि यह घटना 'फर्जी' थी.बटला हाउस मुठभेड़ पर राहुल गांधी को जहां विरोध का सामना करना पड़ा वहीं कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने बुधवार को एक बार फिर से इस घटना को उठाते हुए इसे ‘फर्जी’ बताया.


उन्होंने कहा कि वह हमेशा से बटला हाउस मुठभेड़ को फर्जी मानते रहे हैं और सरकार और गृह मंत्रालय से इस मामले की जांच कराने की कोशिश की लेकिन इसमें सफलता नहीं मिल पायी. सिंह ने आजमगढ में कहा, ‘‘प्रधानमंत्री और गृह मंत्रालय की राय थी कि मुठभेड़ वास्तविक थी.

इसलिए मैंने इस पर बाद में दबाव नहीं बनाया.’’दिल्ली बम विस्फोट सहित आतंकी घटनाओं में कई युवा आजमगढ़ के रहे हैं. उलेमा कौंसिल के कार्यकर्ताओं ने सिबली कॉलेज में गेट के सामने धरना दिया जहां कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी ठहरे हुए थे.

आजमगढ़ में मुस्लिम छात्रों ने राहुल गाँधी का पुतला फूंका

कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी के उत्तर प्रदेश के पूर्वांचल के दौरे में आजमगढ़ में दिल्ली के बाटला हाउस एनकाउंटर मामले को लेकर विरोध प्रदर्शन किया. विरोध प्रदर्शन करने वालों ने राहुल गांधी का पुतला फुंका.

आजमगढ़ में शिबली कॉलेज के बाहर राहुल गांधी का विरोध किया गया.उलेमा काउंसिल के कार्यकर्ताओं ने वर्ष 2008 के दिल्ली के चर्चित बाटला हाउस एनकाउंटर की न्यायिक जांच नहीं कराए जाने के कारण राहुल गांधी के खिलाफ प्रदर्शन किया और उनका पुतला फूंका.

मंगलवार की रात राहुल गांधी आजमगढ़ के शिबली कॉलेज के गेस्ट हाउस में रुके थे.राहुल गांधी के कॉलेज में ठहरने की वजह से पढ़ाई नहीं हो सकी और छात्रों का एक गुट इससे भी नाराज था.

ग़ौरतलब है कि दिल्ली के बटला हाउस में वर्ष 2008 में हुए पुलिस एनकाउंटर में दो संदिग्ध आतकंवादी मारे गए थे, जबकि एक फरार हो गए थे.मारे गए दो संदिग्ध आतकंवादियों का संबंध आजमगढ़ से था.कई सामाजिक संगठनों का दावा है कि यह फर्जी मुठभेड़ थी और इसकी न्यायिक जांच की मांग करते रहे हैं, लेकिन सरकार इससे इनकार करती रही है.

फिजा मुहम्मद को पड़ोसियों ने बुरी तरह पीटा

हरियाणा के पूर्व उप मुख्यमंत्री चंद्रमोहन के साथ रिश्तों को लेकर सुर्खियों में आई पूर्व असिस्टेंट एडवोकेट जनरल फिजा मुहम्मद उर्फ अनुराधा बाली फिर चर्चा में हैं। बुधवार को अपने पड़ोसियों से हुए झगड़े में वह गंभीर रूप से घायल हो गई। उन्हें उपचार के लिए सेक्टर-32 स्थित मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।

देर रात तक फिजा को होश नहीं आया था।जानकारी के अनुसार, बुधवार को फिजा के घर के सामने मैदान में बच्चे क्रिकेट खेल रहे थे। इस दौरान गेंद फिजा के घर की खिड़की में आ लगी। इस पर फिजा की बच्चों के साथ कहासुनी हुई और बात पड़ोसी अभिभावकों तक जा पहुंची। विवाद इतना बढ़ गया कि अभिभावकों ने मिलकर फिजा और उसके सहयोगियों दिलीप महाजन व तरुण की बुरी तरह से पिटाई कर डाली।

घटना में घायल पड़ोसी संजय अग्रवाल, उनकी पत्‍‌नी और दो बच्चों को भी अस्पताल में भर्ती कराया गया। डीएसपी सिटी-2 डीएस मान ने बताया कि पड़ोसी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।विदित रहे कि फिजा का इससे पूर्व अपने एक अन्य पड़ोसी से भी झगड़ा हो चुका है।

हरियाणा के एक अधिकारी के माता-पिता ने फिजा पर आरोप लगाया था कि वह उनके घर बेवजह पत्थर फेंकती हैं। मामला कोर्ट में चला गया था और फिजा को निर्दोष करार दिया गया था।

टीम अन्ना अब चलेगी संघ की राह पर

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के साथ संबंध होने के आरोप से तिलमिला उठने वाले अन्ना हजारे अब उसी की तर्ज पर अपना राष्ट्रीय स्तर का सांगठनिक ढांचा खड़ा करने वाले हैं।अब तक किसी औपचारिक संगठन के गठन से बचते रहे अन्ना पहली बार हर वार्ड और गांव में अपनी शाखा और स्वयंसेवक तैयार करेंगे।

इसके अलावा दस रुपये देकर लोग एक साल के लिए अन्ना कार्ड भी ले सकेंगे। यह संगठन की सदस्यता तो होगी ही, मोबाइल पर एक साल तक उनका संदेश पाने की फीस भी।पांच राज्यों के चुनाव प्रचार में जाने पर वे अपना अंतिम फैसला मंगलवार को अपने सहयोगियों प्रशांत भूषण, अरविंद केजरीवाल और कुमार विश्वास के साथ बातचीत के बाद ही करेंगे।सख्त लोकपाल के लिए अन्ना ने आंदोलन चलाया तो देश भर से बड़ी तदाद में लोग उनसे जुड़े। लेकिन पूरा आंदोलन अनौपचारिक तौर पर ही चलता रहा।

पहले से चल रही सोसाइटी 'इंडिया अगेंस्ट करप्शन' इसका सचिवालय बनी और लोग अनौपचारिक तौर पर जुड़ते रहे।अगस्त के आंदोलन से ठीक पहले सिर्फ दो दर्जन लोगों की एक कोर कमेटी गठित की गई, जिसे मीडिया ने टीम अन्ना का नाम दिया।अब पहली बार तय किया गया है कि देश के हर गांव और शहर के हर वार्ड में अपने स्वयंसेवक हों। इनके जरिए इलाके के लोगों तक पहुंचा जा सके।

इन सक्रिय स्वयंसेवकों के अलावा देश भर में सदस्य भी बनाए जाएंगे। सदस्यता के लिए भी अनोखा तरीका अपनाया गया है। दस रुपये में कोई भी अन्ना कार्ड खरीद कर यह सदस्यता ले सकेगा। यह कार्ड एक स्क्रेच कूपन होगा, जिसके जरिए एक साल तक अपने मोबाइल पर अन्ना के संदेश हासिल होते रहेंगे।अन्ना के करीबी सूत्रों का दावा है कि यह ढांचा सिर्फ अन्ना और जनता के बीच वैचारिक पुल का काम करेगा। हर हफ्ते अन्ना की बातें एक पर्चे के रूप में वेबसाइट पर डाली जाएंगी।

हर गांव और वार्ड के स्वयंसेवक उनका प्रिंट लेकर इलाके के लोगों को बांटेंगे और फिर साप्ताहिक बैठक में उन पर चर्चा होगी।इस बदलाव की जरूरत क्यों पड़ी, यह पूछने पर उनके एक वरिष्ठ सहयोगी कहते हैं कि हमें उम्मीद थी कि सरकार जन लोकपाल की कम से कम 60-70 फीसद बातें मान लेगी और हमारा मकसद पूरा होगा। लेकिन सरकार तो आंदोलन का इस्तेमाल उल्टा भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने वाली व्यवस्था बनाने के लिए कर रही है।

ऐसे में यह साफ है कि अब हमें लंबी लड़ाई लड़नी होगी। सोमवार को कोर कमेटी की बैठक में इस पर मुहर भी लग गई है। कोर कमेटी के तीन सदस्य अन्ना से मुलाकात करने मंगलवार को उनके गांव रालेगण सिद्धि पहुंचेंगे। इस दौरान ही अन्ना वहां चुनाव प्रचार को लेकर अपने फैसले का एलान करेंगे।

सलमान रुश्दी की भारत यात्रा का मुस्लिम उलेमा विरोध करेगा

विवादित लेखक सलमान रुश्दी की प्रस्तावित भारत यात्रा का मुस्लिम उलेमा विरोध कर रहे हैं। उन्होंने भारत सरकार से रुश्दी का वीजा रद्द करने की मांग भी उठाई है। उलेमाओं कहना है कि रुश्दी का वीजा रद्द नहीं किया तो मुसलमान आहत होंगे।

दारुल उलूम देवबंद ने सरकार से मांग की है कि वो रुश्दी का वीजा रद्द कर दे जिससे वे भारत न आ सकें। मालूम हो कि सलमान रुश्दी 20 से 24 जनवरी तक जयपुर में होने वाले साहित्य महोत्सव में हिस्सा लेने भारत आने वाले हैं। रुश्दी का उपन्यास सैटेनिक वर्सेस काफी विवादित रहा है और उन्हें इसके कारण दुनियाभर में विरोध का सामना भी करना पड़ा। सलमान रुश्दी का उपन्यास सैटेनिक वर्सेस भारत में प्रतिबंधित है।

दारुल उलूम देवबंद के प्रमुख मौलाना अब्दुल कासिम कहना है कि सलमान रुश्दी ने अपने उपन्यास से मुसलमानों की धार्मिक भावनाएं आहत हुई हैं। उन्होंने कहा कि सरकार को रुश्दी के खिलाफ मुसलमानों की भावनाओं का ध्यान करना चाहिए। देवबंद के प्रमुख का कहना है कि अगर सरकार ने कोई कदम नहीं उठाया तो देवबंद उचित कदम उठाएगा।

राहुल कल पैदा हुए और आज प्रधानमंत्री बनना चाहते हैं - ठाकरे

शिवसेना प्रमुख बाल ठाकरे ने विदेशी मूल का मुद्दा उठाते हुए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की आलोचना की और पार्टी महासचिव राहुल गांधी के प्रधानमंत्री बनने की महत्वाकांक्षा पर भी सवालिया निशान लगाया।

ठाकरे ने कहा कि देश में हर छोटे से मुद्दे पर विवाद उठ खड़ा हो रहा है। शिवसेना के मुखपत्र 'सामना' को दिए साक्षात्कार में उन्होंने कहा, "इसकी वजह से देश की प्रतिष्ठा खत्म हो रही है।"

ठाकरे ने कहा, "सोनिया की छवि पर प्रश्न इसलिए नहीं उठता, क्योंकि वह विदेशी हैं। उन्हें इस देश से कैसा प्रेम होगा और यहां उनका क्या योगदान है।"

राहुल पर निशाना साधते हुए ठाकरे ने कहा, "वह कल पैदा हुए और आज प्रधानमंत्री बनना चाहते हैं। क्या प्रधानमंत्री का पद कोई खेल है? क्या प्रधानमंत्री के पद की नीलामी हो रही है?"

उन्होंने कांग्रेस पर पूरे देश का माहौल खराब करने का आरोप लगाया।

Join our WhatsApp Group

Join our WhatsApp Group
Join our WhatsApp Group

फेसबुक समूह:

फेसबुक पेज:

शीर्षक

भाजपा कांग्रेस मुस्लिम नरेन्द्र मोदी हिन्दू कश्मीर अन्तराष्ट्रीय खबरें पाकिस्तान मंदिर सोनिया गाँधी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ राहुल गाँधी मोदी सरकार अयोध्या विश्व हिन्दू परिषद् लखनऊ उत्तर प्रदेश मुंबई गुजरात जम्मू दिग्विजय सिंह मध्यप्रदेश श्रीनगर स्वामी रामदेव मनमोहन सिंह अन्ना हजारे लेख बिहार विधानसभा चुनाव बिहार लालकृष्ण आडवाणी मस्जिद स्पेक्ट्रम घोटाला अहमदाबाद अमेरिका नितिन गडकरी सुप्रीम कोर्ट चुनाव पटना भोपाल कर्नाटक सपा आतंकवाद सीबीआई आतंकवादी पी चिदंबरम ईसाई बांग्लादेश हिमाचल प्रदेश उमा भारती बेंगलुरु अरुंधती राय केरल जयपुर उमर अब्दुल्ला डा़ प्रवीण भाई तोगड़िया पंजाब महाराष्ट्र हिन्दुराष्ट्र इस्लामाबाद धर्म परिवर्तन मोहन भागवत राष्ट्रमंडल खेल वाशिंगटन शिवसेना सैयद अली शाह गिलानी अरुण जेटली इंदौर गंगा हिंदू गोधरा कांड बलात्कार भाजपायूमो मंहगाई यूपीए साध्वी प्रज्ञा सुब्रमण्यम स्वामी चीन दवा उद्योग बी. एस. येदियुरप्पा भ्रष्टाचार हैदराबाद कश्मीरी पंडित काला धन गौ-हत्या चेन्नई तमिलनाडु नीतीश कुमार शिवराज सिंह चौहान शीला दीक्षित सुषमा स्वराज हरियाणा हिंदुत्व अशोक सिंघल इलाहाबाद कोलकाता चंडीगढ़ जन लोकपाल विधेयक नई दिल्ली नागपुर मुजफ्फरनगर मुलायम सिंह रविशंकर प्रसाद स्वामी अग्निवेश अखिल भारतीय हिन्दू महासभा आजम खां उत्तराखंड फिल्म जगत ममता बनर्जी मायावती लालू यादव अजमेर प्रणव मुखर्जी बंगाल मालेगांव विस्फोट विकीलीक्स अटल बिहारी वाजपेयी आशाराम बापू ओसामा बिन लादेन नक्सली अरविंद केजरीवाल एबीवीपी कपिल सिब्बल क्रिकेट तरुण विजय तृणमूल कांग्रेस बजरंग दल बाल ठाकरे राजिस्थान वरुण गांधी वीडियो हरिद्वार असम गोवा बसपा मनीष तिवारी शिमला सिख विरोधी दंगे सिमी सोहराबुद्दीन केस इसराइल एनडीए कल्याण सिंह पेट्रोल प्रेम कुमार धूमल सैयद अहमद बुखारी अनुच्छेद 370 जदयू भारत स्वाभिमान मंच हिंदू जनजागृति समिति आम आदमी पार्टी विडियो-Video हिंदू युवा वाहिनी कोयला घोटाला मुस्लिम लीग छत्तीसगढ़ हिंदू जागरण मंच सीवान

लोकप्रिय ख़बरें

ख़बरें और भी ...

राष्ट्रवादी समाचार. Powered by Blogger.

नियमित पाठक

Google+ Followers