ताज़ा समाचार (Fresh News)

दिग्विजय सिंह आप आखिर एजेंट किसके हैं ? - शहनवाज हुसैन

भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता शहनवाज हुसैन ने गुरुवार को कहा कि कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह बताएं कि वह किसके एजेंट के तौर पर काम कर रहे हैं। लखनऊ स्थित पार्टी कार्यालय पर शहनवाज ने कहा कि दिग्विजय कांग्रेस के प्रवक्ता नहीं हैं फिर किस हैसियत से वह ऐसा बयान दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि वह कांग्रेस अध्यक्ष सोनियां गांधी के महामंत्री के तौर पर काम कर रहे हैं।

इससे पहले दिग्विजय सिंह ने राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) के साथ बाबा रामदेव के सम्बंध को लेकर सवाल खड़ा किया था। उन्होंने कहा था, " इस अनशन में शामिल लोग मुख्यत: आरएसएस के हैं। यह इस बात का सबूत है कि उन्हें आरएसएस का समर्थन हासिल है।"

स्वामी रामदेव के सत्याग्रह में साध्वी ऋतंभरा पर मुल्ला अग्निवेश को ऐतराज

अब तक सत्याग्रह को समर्थन दे रही अन्ना हजारे की टीम ने शनिवार को सत्याग्रह में साध्वी ऋतंभरा के शामिल होने पर ऐतराज जताया है।

अन्ना
हजारे के सहयोगी अग्निवेश ने शनिवार को कहा, 'साध्वी ऋतंभरा का इतिहास सांप्रदायिक रहा है और वे भीड़ को भड़काने वाली हैं। इसलिए अन्ना हजारे सत्याग्रह में शामिल होने के फैसले पर नए सिरे से विचार कर सकते हैं।'

मुस्लिम भाजपा को सुनकर नहीं देखकर परखे - शहनवाज हुसैन

भारतीय जनता पार्टी को सुन्नी मुस्लिम का दर्जा देते हुए भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता, सांसद शहनवाज हुसैन ने कहा कि हम सुन्नी है। सुनकर मुसलमान बने है। उन्होंने मुस्लिमजनों से आह्वान किया कि भाजपा को सुनकर नहीं देखकर परखे।


शहनवाज बुधवार को अलका होटल में भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा की बैठक को संबोधित कर रहे थे। बैठक में भाजपा की राष्ट्रीय महासचिव किरण माहेश्वरी, अपसंख्यक मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष अमीन पठान, भाजपा प्रदेश मंत्री प्रमोद सामर, पूर्व मंत्री महावीर भगोरा, सभापति रजनी डांगी, पूर्व सभापति युधिष्ठिर कुमावत बतौर अतिथि मंचासीन थे।

बैठक को संबोधित करते हुए शहनवाज हुसैन ने कहा कि ख्वाजा गरीब नवाज ने मुल्क में जो अच्छे काम किए है हम उस मुल्क में रहते है। मुस्लिमजनों का फर्ज है कि वह अच्छाई के रास्ते पर चले और अच्छाई का साथ दे। उन्होंने कहा कि अभी तक कांग्रेस सरकार शासन के ढाई साल गुजरने के बाद भी न तो सरकार ने हज कमेटी का प्रदेश अध्यक्ष चुना है न ही मदरसा बोर्ड का गठन किया है और ना ही मुस्लिमों के लिए कुछ किया है।

जब मुस्लिम भाजपा से जुड़ता है तो लोग उसे गलत नजरों से देखते है। मगर हम कहते है कि भाजपा से जुड़कर देखो। कांग्रेस ने तो हर बार मुस्लिमों को बहकाया है एवं धोखा देने का ही काम किया है। बैठक में स्वागत उद्बोधन प्रदेश मंत्री इकराम कुरैशी ने दिया। इस दौरान भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के प्रदेश प्रतिनिधि जहरूद्दीन फारूख हुसैन, नत्थे खां पठान, राजू भाई पठान उपस्थित थे।

बिजली गुल होने पर ली चुटकी : भाजपा अल्पसंख्यक बैठक के दौरान ४ बार बिजली गुल हो गई जिस पर शाहनवाज हुसैन ने चुटकी लेते हुए कहा कि सम्पूर्ण राजस्थान को बिजली देने का दावा करने वाली गहलोत सरकार की बिजली एक घण्टे में ४ बार गुल हो रही है।

असली कांग्रेस कौन सी... : शहनवाज ने कांग्रेस पार्टी पर चर्चा करते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी के मुखिया पहले यह तो बताएं कि असली कांग्रेस पार्टी कौन सी है। राष्ट्रवादी कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस या फिर खुद कांग्रेस।

उमर अब्दुल्ला की आतंकियों से अपील - घाटी में आतंक सर्दियों में फैलाएं

सीमा पार से जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों की घुसपैठ की खबरों के बीच राज्य के मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने रविवार को कहा कि घाटी में पर्यटकों को कोई खतरा नहीं हैं। उन्होंने आतंकियों से भी कहा कि वे गर्मियों में अशांति फैलाएं। यदि ऐसा करना है तो सदियों में करें।

उन्होंने बताया कि पर्यटकों से घुसपैठ के संबंध को जोड़ना गलत है। अगर आपको यह लगता है कि घुसपैठ हुई है और पर्यटकों को जाने की जरूरत है तो यह गलत है। अगर वे (घुसपैठिए) आए हैं तो हम उनसे निपटेंगे। उन्होंने कहा कि घाटी में पर्यटकों को कोई खतरा नहीं हैं।

खबरों के मुताबिक कुपवाड़ा और गुरेज सेक्टर के जरिए 35 से 40 आतंकवादियों ने घाटी में प्रवेश किया है और इनमें से अधिकतर लश्कर-ए-तैयबा के सदस्य है।

मुख्यमंत्री ने अलगाववादियों को कहा कि आप गर्मियों में कश्मीर में क्यों अशांति पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं, जब कश्मीर में भारी संख्या में पर्यटक आ रहे हैं? उन्होंने कहा कि अगर आप यहां अशांति फैलाना चाहते है तो यह काम सर्दियों में करें। आप गर्मियों में यह क्यों करते है? यहां बहुत से ऐसे लोग हैं जो कि पर्यटकों से होने वाली आमदनी से कमाई करते हैं। आप उनकी जिंदगी बर्बाद करने की कोशिश क्यों कर रहे हैं।

वीर सावरकर के समारोहों के बहिष्कार पर पुनर्विचार करे कांग्रेस - आडवाणी

स्वतंत्रता सेनानी औरहिन्दुत्वराजनीतिक विचारधारा के प्रचारकवीरविनायक दामोदर सावरकर के संसद भवन के केन्द्रीय कक्ष में चित्र का अनावरण किए जाने से लेकर अब तक उस संबंध में आयोजित समारोहों का कांग्रेस की ओर से बहिष्कार किए जाने को भाजपा नेता लालकृष्ण आडवाणी ने दुर्भाग्यपूर्ण बताया। उन्होंने सोनिया गांधी की अध्यक्षता वाली पार्टी से आग्रह किया कि वह अपने इस आचरण पर पुनर्विचार करे।

आडवाणी ने कहा कि हर साल की तरह इस बार भी 28 मई को सावरकर के जन्मदिवस पर केन्द्रीय कक्ष में आयोजित समारोह में कांग्रेस की ओर से कोई नहीं आया, सिवाय लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार के।

उन्होंने कहा कि 2003 में केन्द्रीय कक्ष में सावरकार के चित्र का जब तत्कालीन राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम ने अनावरण किया था तब कांग्रेस ने उसका बहिष्कार किया, हालांकि राष्ट्रपति जिस समारोह में हों उसका बहिष्कार करने की परंपरा नहीं है। उन्होंने कहा कि संसद के केन्द्रीय कक्ष में सावरकर से संबधित उस पहले समारोह से लेकर आज तक कांग्रेस हर आयोजन का बहिष्कार करती आ रही है।

भाजपा संसदीय दल के अध्यक्ष ने अपने ब्लॉग में आज कहा कि यह पूरी तरह दुर्भाग्यपूर्ण है और मैं कांग्रेस से अपील करना चाहूंगा कि वह अपने इस आचरण पर पुनर्विचार करे।

सावरकर का 2003 में केन्द्रीय कक्ष में चित्र लगाए जाने के बाद से परंपरा के अनुसार हर साल 28 मई को उनके जन्मदिवस के अवसर पर लोकसभा सचिवालय की ओर से पुष्पार्ण समारोह आयोजित होता है जिसमें अन्य लोगों के आलावा सभी सांसदों को आमंत्रित किया जाता है।

जम्मू में छात्रों ने कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल का पुतला फूंका

जम्मू केंद्रीय विश्वविद्यालय में कुलपति की नियुक्ति एवं अकादमिक सत्र शुरू करने की मांग को लेकर रविवार यहां कुछ कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया और केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री कपिल सिब्बल का पुतला फूंका।

नेशनल सेकुलर फोरम के कार्यकर्ताओं ने जम्मू-कश्मीर सरकार और केंद्र सरकार के खिलाफ नारे लगाए और उन पर यहां इस संस्थान की स्थापना में सौतेला बर्ताव करने का आरोप लगाया।

फोरम के अध्यक्ष विकास शर्मा ने कहा कि हमने संप्रग से यथाशीघ्र जम्मू केंद्रीय विश्वविद्यालय में कुलपति को नियुक्त करने का और इस साल से अकादमिक सत्र शुरू करने का भी अनुरोध किया।

हम पिछले साल एक अकादमिक सत्र गंवा चुके और यह छात्र समुदाय के लिए बहुत बड़ी क्षति है। शर्मा ने कहा कि यदि संप्रग सरकार जम्मू केंद्रीय विश्वविद्यालय के लिए कुलपति नियुक्त करने में विफल रहती तो हम एक बार फिर जनांदोलन छेड़ेंगे।

भाजपा की उत्तराखंड सरकार साठ वर्ष से अधिक आयु के श्रमिकों को पेंशन देगी

उत्तराखंड सरकार ने राज्य में साठ वर्ष से अधिक उम्र के श्रमिकों को श्रमिक कल्याण योजना के तहत 150 रूपये प्रति माह पेंशन दिये जाने की अहम योजना बनाई है।

आधिकारिक सूत्रों ने आज यहां बताया कि राज्य के श्रम मंत्री प्रकाश पंत ने कल उत्तराखंड भवन एवं सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड की बैठक के दौरान इस योजना का अंतिम रूप दिया। इस योजना के तहत लकवा, कुष्ठ रोग तपेदिक या दुर्घटनाओं के कारण नि:शक्त होने वाले कर्मकारों को 150 रूपये पंेशन दी जायेगी तथा साथ ही पांच हजार रूपये अनुग्रह राशि भी दी जायेगी।

सूत्रों के अनुसार कार्य के दौरान दुर्घटना से हुई मृत्यु पर 50 हजार रूपये तथा सामान्य मृत्यु पर आश्रितों को 15 हजार रूपये की राशि दी जायेगी।

सूत्रों ने बताया कि श्रमिकों को बीमारी के दौरान उपचार के लिये एक हजार रूपये तथा दुर्घटना में नि:शक्त होने पर पांच हजार रूपये की चिकित्सा सहायता दी जायेगी।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के पदाधिकारी पर जानलेवा हमला

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की नगर इकाई के एक पदाधिकारी पर कल रात नंदनवन इलाके में में दो अज्ञात लोगों ने चाकुओं से हमला कर दिया।

पुलिस ने आज जानकारी देते हुए बताया कि मोहन अग्निहोत्री नामक संघ कार्यकर्ता पर हमला हुआ जिन्हें एक निजी नर्सिंग होम में भर्ती कराया गया और अब वह खतरे से बाहर हैं।

अग्निहोत्री (४०) अपने घर जा रहे थे तभी दो अज्ञात लोगों ने उनके दोपहिया वाहन को रोका और चाकुओं से उन पर हमला कर दिया, जिससे उनके गर्दन और पेट में जख्म आये। आसपास के इलाके के लोगों ने उन्हें उपचार के लिए अस्पताल पहुंचाया।

हमले की वजह पता नहीं चल सकी है लेकिन पुलिस ने आईपीसी की धारा 307 के तहत हत्या की कोशिश का मामला दर्ज कर लिया है।

अन्ना पहले हिन्दू विरोधी अग्निवेश से दूरी बनायें फिर करे आन्दोलन-हिन्दू महासभा

अखिल भारतीय हिन्दू महासभा ने भ्रष्टाचार के मुद्दे पर तथाकथित संघर्ष कर रहे समाजसेवी अन्ना हजारे पर आज निशाना साधा और कहा कि वह पहले अलगाववादियों के साथ सुर मिलाने वाले तथा हिन्दू भावनाओं के साथ खिलवाड करने वाले स्वामी अग्निवेश से दूरी बनाये एवं उसके बाद ही भ्रष्टाचारियों को उम्र कैद दिलाने की बात करें।

हिन्दू
महासभा के प्रदेश अध्यक्ष कमलेश तिवारी ने यहां जारी बयान में कहा कि अमरनाथ यात्रा को ढोंग बताने वाले स्वामी अग्निवेश अलगाववादियों का समर्थन कर रहे हैं। श्री हजारे ने स्वामी अग्निवेश को अपने साथ रखा है जो पूरे देश में हिन्दू भावनाओं को आहत करने वाला बयान दे रहे हैं।

उन्होंनें कहा कि श्री हजारे भ्रष्टाचारियों को उम्र कैद और जितना बडा अधिकारी उतनी बडी सजा की बात कर रहे हैं लेकिन पहले वह यह बतायें कि अलगाववादियों के साथ सुर मिलाने और हिन्दूओं की भावनाओं को आहत करने वाले स्वामी अग्निवेश के लिये क्या सजा होनी चाहिये।

उन्होंनें
कहा कि हिन्दू महासभा मानती है कि भ्रष्टाचार के खिलाफ और विदेशों में जमा काले धन को देश की संपत्ति धोषित करने को योग गुरू रामदेव के मिशन को दबाने के लिये केन्द्र सरकार श्री हजारे और स्वामी अग्निवेश के साथ खडी हुई है और देश को तोडने वाला बयान देने वाले स्वामी पर कार्रवाई से कतरा रही है।

स्वामी
अग्निवेश ने अपने पिछले कश्मीर दौरे में अमरनाथ यात्रा को ढोंग बताया था और कहा कि कश्मीर की आजादी की मांग करने वालों की आवाज दिल्ली में दबा दी जाती है।

पार्टी में कोई अनबन या मतभेद नहीं - भाजपा

रेड्डी बंधुओं के मुद्दे पर सुषमा स्वराज के बयान से उपजे विवाद को देखते हुए भाजपा ने रविवार को कहा कि इस मुद्दे पर पार्टी में कोई अनबन नहीं है।सुषमा और पार्टी के कुछ वरिष्ठ नेताओं के बीच कथित मतभेद के बारे में पूछने पर भाजपा की प्रवक्ता निर्मला सीतारमन ने कहा, 'पार्टी में कोई अनबन या मतभेद भी नहीं है।'

भाजपा
अध्यक्ष नितिन गडकरी ने शनिवार को बयान जारी किया था। उन्होंने कहा था कि कर्नाटक में मंत्रियों के चुनाव पर मीडिया में चल रहा विवाद बिल्कुल अनावश्यक है।भाजपा के पूर्व अध्यक्ष राजनाथ सिंह और कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी. एस. येद्दयुरप्पा ने विवादास्पद रेड्डी बंधुओं को प्रदेश मंत्रिमंडल में शामिल करने की अपनी जिम्मेदारी लेने का दावा किया।

जबकि
लोकसभा में भाजपा की नेता सुषमा स्वराज इस प्रकरण से खुद को अलग कर रखा है।माना जाता है कि सुषमा रेड्डी बंधुओं की करीबी हैं। पिछले हफ्ते उन्होंने कहा कि खनन उद्योगपति जनार्दन रेड्डी और करुणाकर रेड्डी को मंत्रिमंडल में शामिल करने का फैसला अरुण जेटली, येद्दयुरप्पा, एम. वेंकैया नायडु और अनंत कुमार का था।

उनकी
इस टिप्पणी से भाजपा की दूसरी पीढ़ी के नेताओं में मतभेद बढ़ गए थे। जिसके बाद राजनाथ सिंह और येद्दयुरप्पा को रेड्डी बंधुओं को मंत्रिमंडल में शामिल करने की जिम्मेदारी लेने के लिए मजबूर होना पड़ा।

एसआइटी ने गुजरात दंगा मामले में चार पुलिस अधिकारियों को क्लीन चिट दी

सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर गठित विशेष जांच दल [एसआइटी] ने राज्य पुलिस के चार आला अधिकारियों को गुजरात दंगा मामले में क्लीन चिट दे दी है। विशेष अदालत ने इस मामले में अपना फैसला 31 मई तक सुरक्षित रखा है। अदालत के इस रुख से मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी को राहत पहुंची है।

अहमदाबाद
की गुलबर्ग सोसाइटी में 28 फरवरी 2002 को दंगों के दौरान कांग्रेस के पूर्व सांसद अहसान जाफरी समेत 69 लोगों की हत्या कर दी गई थी। विशेष अदालत के न्यायाधीश बी जे. ढांडा के समक्ष जांच रिपोर्ट पेश कर एसआइटी ने राज्य के तत्कालीन पुलिस आयुक्त पीसी पांडे, संयुक्त पुलिस आयुक्त एमके टंडन, पुलिस उपायुक्त पीबी गोंदिया और अहमदाबाद सिटी अपराध शाखा के सहायक पुलिस आयुक्तएसएस चूड़ास्मा को क्लीन चिट दे दी है।

जांच
दल का कहना है कि चारों पुलिस अधिकारियों के खिलाफ दंगों में लिप्त होने का कोई सुबूत नहीं मिला है। दंगे में मारे गए सांसद की पत्नी जकिया जाफरी ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर गुलबर्ग सोसाइटी मामले की सीबीआइ जांच कराने की मांग की थी। इसके बाद कोर्ट के आदेश पर एसआइटी का गठन किया गया था। साथ ही दंगा मामलों की सुनवाई के लिए विशेष अदालत भी बनी थी।

बचाव
पक्ष के वकील एस. एम. वोरा ने पुलिस अधिकारियों का पक्ष रखते हुए कहा था कि भारतीय साक्ष्य कानून की धारा-6 के तहत उक्त अधिकारी सीधे तौर पर दंगा मामले में शामिल नहीं हैं। इसके अलावा उनके खिलाफ लापरवाही बरतने का भी कोई मामला नहीं बनता है।

Join our WhatsApp Group

Join our WhatsApp Group
Join our WhatsApp Group

फेसबुक समूह:

फेसबुक पेज:

शीर्षक

भाजपा कांग्रेस मुस्लिम नरेन्द्र मोदी हिन्दू कश्मीर अन्तराष्ट्रीय खबरें पाकिस्तान मंदिर सोनिया गाँधी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ राहुल गाँधी मोदी सरकार अयोध्या विश्व हिन्दू परिषद् लखनऊ उत्तर प्रदेश मुंबई गुजरात जम्मू दिग्विजय सिंह मध्यप्रदेश श्रीनगर स्वामी रामदेव मनमोहन सिंह अन्ना हजारे लेख बिहार विधानसभा चुनाव बिहार लालकृष्ण आडवाणी मस्जिद स्पेक्ट्रम घोटाला अहमदाबाद अमेरिका नितिन गडकरी सुप्रीम कोर्ट चुनाव पटना भोपाल कर्नाटक सपा आतंकवाद सीबीआई आतंकवादी पी चिदंबरम ईसाई बांग्लादेश हिमाचल प्रदेश उमा भारती बेंगलुरु अरुंधती राय केरल जयपुर उमर अब्दुल्ला डा़ प्रवीण भाई तोगड़िया पंजाब महाराष्ट्र हिन्दुराष्ट्र इस्लामाबाद धर्म परिवर्तन मोहन भागवत राष्ट्रमंडल खेल वाशिंगटन शिवसेना सैयद अली शाह गिलानी अरुण जेटली इंदौर गंगा हिंदू गोधरा कांड बलात्कार भाजपायूमो मंहगाई यूपीए साध्वी प्रज्ञा सुब्रमण्यम स्वामी चीन दवा उद्योग बी. एस. येदियुरप्पा भ्रष्टाचार हैदराबाद कश्मीरी पंडित काला धन गौ-हत्या चेन्नई तमिलनाडु नीतीश कुमार शिवराज सिंह चौहान शीला दीक्षित सुषमा स्वराज हरियाणा हिंदुत्व अशोक सिंघल इलाहाबाद कोलकाता चंडीगढ़ जन लोकपाल विधेयक नई दिल्ली नागपुर मुजफ्फरनगर मुलायम सिंह रविशंकर प्रसाद स्वामी अग्निवेश अखिल भारतीय हिन्दू महासभा आजम खां उत्तराखंड फिल्म जगत ममता बनर्जी मायावती लालू यादव अजमेर प्रणव मुखर्जी बंगाल मालेगांव विस्फोट विकीलीक्स अटल बिहारी वाजपेयी आशाराम बापू ओसामा बिन लादेन नक्सली अरविंद केजरीवाल एबीवीपी कपिल सिब्बल क्रिकेट तरुण विजय तृणमूल कांग्रेस बजरंग दल बाल ठाकरे राजिस्थान वरुण गांधी वीडियो हरिद्वार असम गोवा बसपा मनीष तिवारी शिमला सिख विरोधी दंगे सिमी सोहराबुद्दीन केस इसराइल एनडीए कल्याण सिंह पेट्रोल प्रेम कुमार धूमल सैयद अहमद बुखारी अनुच्छेद 370 जदयू भारत स्वाभिमान मंच हिंदू जनजागृति समिति आम आदमी पार्टी विडियो-Video हिंदू युवा वाहिनी कोयला घोटाला मुस्लिम लीग छत्तीसगढ़ हिंदू जागरण मंच सीवान

लोकप्रिय ख़बरें

ख़बरें और भी ...

राष्ट्रवादी समाचार. Powered by Blogger.

नियमित पाठक

Google+ Followers