ताज़ा समाचार (Fresh News)

मुल्ला अग्निवेश को विश्व हिंदू परिषद ने भोपाल में सिखाया सबक (वीडियो देखे )



 स्वामी अग्निवेश के साथ संस्कृति बचाओ मंच के लोगों ने झूमा-झटकी की। इस दौरान स्वामी का भगवा वस्त्र भी खींच लिया गया। घटना शुक्रवार को रवींद्र भवन में राष्ट्रीय गरिमा अभियान कार्यक्रम के बाद की है। केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री जयराम रमेश और अग्निवेश मैला ढोने के विरोध स्वरूप सांकेतिक तौर पर टोकनी जला रहे थे, तभी मंच के चंद्रशेखर तिवारी और विश्व हिंदू परिषद के पूर्व नेता बिहारीलाल तिवारी ने वहां पहुंचकर अग्निवेश के साथ धक्का-मुक्की की।

मंच के कार्यकर्ता इस बात का विरोध कर रहे थे कि पिछले दिनों अग्निवेश ने दिल्ली में एक कार्यक्रम के दौरान शिवलिंग को पाखंड करार दिया था।

बात उस समय बिगड़ी जब मैला मुक्ति यात्रा के शुभारंभ के बाद जयराम व स्वामी अग्निवेश प्रतीक के तौर पर मैला ढोने वाली टोकरियां जला रहे थे। मंच के चंद्रशेखर तिवारी, बीएल तिवारी समेत अन्य नेता वहां पहुंचे और अग्निवेश से धक्का-मुक्की करते हुए उनका भगवा वस्त्र खींच लिया। चंद्रशेखर का कहना है कि हिंदू धर्म में भगवा वस्त्र धारण करने वालों को इस तरह की बात नहीं करनी चाहिए। वे समाज के आदर्श होते हैं।

पीएमओ है या ‘आपरेशन सुरक्षा कार्यालय’? : भाजपा


राबर्ट वाड्रा से जुड़े जमीन सौदों में अनियमितताओं के आरोपों में प्रधानमंत्री कार्यालय द्वारा क्लीनचिट दिए जाने की खबरों पर प्रतिक्रिया देते हुए भाजपा ने आज कहा कि  ‘पीएमओ क्या लोगों को बचाने का  ‘आपरेशन सुरक्षा कार्यालय’ बन गया है।’ भाजपा प्रवक्ता रविशंकर प्रसाद ने संसद परिसर में संवाददाताओं से कहा कि खबरों के अनुसार प्रधानमंत्री कार्यालय(पीएमआ) ने वाड्रा को क्लीन चिट दी है और इस संबंध में इलाहाबाद उच्च न्यायालय में एक हलफनामा भी दाखिल किया गया है।

प्रसाद ने कहा कि  ‘यह प्रधानमंत्री कार्यालय है या आपरेशन सुरक्षा कार्यालय है।’ जो बार बार लोगों का बचाव करता है। उन्होंने कहा कि वाड्रा के संबंध में अनेक आरोप लगे हैं और हरियाणा तथा राजस्थान सरकार द्वारा उनकी मदद की खबरें भी सार्वजनिक हैं। उन्होंने कहा कि हम प्रधानमंत्री से पूछना चाहेंगे कि क्या पीएमओ या कंपनी मामलों के मंत्रालय या आयकर विभाग ने इस संबंध में कोई जांच की है और अगर की है तो उसका ब्योरा क्या है।

प्रसाद ने आरोप लगाया कि इससे पहले भी प्रधानमंत्री कार्यालय ने 2जी मामले में ए राजा, पी चिदंबरम को और राष्ट्रमंडल खेल घोटाले में दिल्ली की मुख्यमंत्री शीला दीक्षित को क्लीन चिट दी हैं।

पाक में हिन्दूओं को श्मशान भी नसीब नहीं, शव दफ़न करने को मजबूर


पाकिस्तान में रहने वाले हिंदू समुदाय के लोगों को अब अपने परंपराओं एवं रीतिरिवाजों के अनुसार मृत शवों का क्रियाक्रम करने की अनुमति नहीं दी जा रही हैं। इतना ही नहीं इसके लिए यहां रहने वाले हिंदू समुदाय के लोगों के लिए श्मशान भूमि तक नहीं उपलब्ध कराई जा रही हैं।

1947 से अब तक डेरा इस्माइल खान में रहने वाले एक मात्र हिंदू पंडित खडगे लाल के शव को ही हिंदू रीतिरिवाजों के तहत अंतिम संस्कार करने की अनुमति दी गई। पाकिस्तान में इस मामले पर गठित स्टैडिंग समिति ने एक रिपोर्ट तैयार कर अपनी सिफारिशों को सरकार को सौंप दिया हैं।

डेरा इस्माइल खान स्थित मेडियन कॉलोनी में पहले एक श्मशान रहा था। साथ ही यहां टाउन हॉल में भी एक श्मशान घाट था जिसकी निलामी हो चुकी हैं।

दिग्विजय सिंह पर सीबीआई का शिकंजा कसा


वक्त बेवक्त अपने उलजलूल बयानों को लेकर विवादों मे रहने वाले कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह इस बार बड़ी मुश्किल में घिरते दिख रहे हैं। इंदौर के आइलैंड मॉल के निर्माण में अनियमितता के आरोप की जांच अब CBI करेगी। मध्यप्रदेश हाईकोर्ट की इंदौर पीठ ने इस मामले में पहले की क्लीन चिट को मानने से इनकार कर दिया।

विपक्ष पर भ्रष्टाचार के आरोपों की झड़ी लागाने वाले दिग्विजय सिंह को अब आइलैंड मॉल निर्माण मामले में CBI जांच से गुजरना होगा। मध्यप्रदेश हाईकोर्ट की इंदौर पीठ ने मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह समेत 6 लोगों को मिली क्लीन चिट को मानने से इनकार कर दिया है साथ ही कोर्ट ने सीबीआई को इंदौर के आइलैंड मॉल मामले की जांच के आदेश दिए हैं।

याचिकाकर्ता का आरोप था कि दिग्विजय ने शॉपिंग मॉल संचालकों को करोड़ों रुपए का अवैध फायदा पहुंचाया। इस मामले में 12 फरवरी 2009 को मामला दर्ज किया गया था। हालांकि मध्य प्रदेश के आर्थिक अपराध अनुसंधान ब्यूरो ईओडब्ल्यू ने अपनी जांच में दिग्विजय सिंह समेत सभी आरोपियों को क्लीन चिट दे दी थी।

आपको बता दें कि इंदौर का आइलैंड मॉल प्रदेश का पहला मॉल था जिसके निर्माण को लेकर सवाल उठे थे।

मिडिया सम्पादकों की गिरफ्तारी नें आपात काल की याद दिला दी - माहेश्वरी

देश के सबसे बड़े घोटाले के खिलाफ आवाज उठाने पर मिडिया सम्पादकों की गिरफ्तारी किए जाने पर भाजपा की राष्ट्रीय महासचिव एवं राजसमंद विधायक किरण माहेश्वरी और वरीष्ठ भाजपा कार्यकर्ताओं नें काँग्रेस सरकार की कड़ी भर्त्सना की है। किरण माहेश्वरी नें इसे गैर कानूनी एवं अलोकतांत्रिक कार्यवाही बताते हुए कहा कि उक्त गिरफ्तारियों नें आपात काल की याद दिला दी है। 

केन्द्र की काँग्रेस सरकार नें सीबीआई और सरकारी अधिकरणों का दुरपयोग कर देश के चौथे सतम्भ मिडिया की आवाज ही नहीं दबाई है वरन् गला घोंटने जैसा कुकृत्य किया है। यह घौर निंदनीय है। उन्हौंने कहा कि उक्त घटनाक्रम काँग्रेस सरकार का तानाशाही रवैया दर्शाता है। प्रवक्ता किशोर गुर्जर नें बताया कि गिरफ्तार किए गए संपादकों की शीघ्र रिहाई करने और उनके विरुद्ध संधारित सभी मुकदमें वापस लेने हेतु किरण माहेश्वरी नें केन्द्रीय गृहमंत्री को पत्र लिखा है। 

उक्त घटनाक्रम की राजसमंद प्रधान देउ बाई, पूर्व प्रधान भानु पालीवाल, श्यामलाल चौहान, पूर्व पालिका अध्यक्ष दिनेश पालीवालस दिनेश बड़ाला, सत्यप्रकाश काबरा, महेन्द्र कोठारी, मानसिंह बारहठ, दिग्विजय सिंह भाटी सहित बड़ी संख्या में भाजपा कार्यकर्ताओं नें कड़ी निंदा की है।

बेंगलुरु के कांग्रेस पाषर्द को चार साल की कठोर कैद


लोकायुक्त की विशेष अदालत ने आज एक कांग्रेस पाषर्द को भ्रष्टाचार के एक मामले में चार साल के कठोर कारावास की सजा सुनायी। 

लोकायुक्त अदालत के विशेष न्यायाधीश एन के सुधीन्द्र राव ने पाषर्द गोविंद राज को एक व्यक्ति उदय कुमार से एक इमारत में चौथी मंजिल के निर्माण के लिये दो लाख रूपये की रिश्वत लेने का दोषी ठहराते हुए यह सजा दी। 

गुरुद्वारा ज्ञान गोदड़ी साहिब विवाद और गहराया

हरिद्वार हरकी पौड़ी स्थ्ति ऐतिहासिक गुरुद्वारा ज्ञान गोदड़ी साहिब विवाद बुधवार को गहरा गया। गुरुद्वारा ज्ञान गोदड़ी साहिब धर्म युद्ध मोर्चा के मुखिया संत बाबा बलजीत सिंह के नेतृत्व में उत्तराखंड में प्रवेश कर रहे हजारों सिख श्रद्धालुओं को उत्तराखंड पुलिस ने सीमा पर रोक दिया। श्रद्धालुओं द्वारा पुलिस बैरक तोड़े जाने पर उत्तराखंड पुलिस दर्जन भर सिख नेताओं सहित सैकड़ों श्रद्धालुओं को गिरफ्तार कर पांच बसों में डालकर अज्ञात स्थान पर ले गई है। 

दो दशकों से चला आ रहा गुरुद्वारा ज्ञान गोदड़ी साहिब विवाद गुरु नानक देव जी के पावन प्रकाश उत्सव के अवसर पर फिर गहरा गया। हर की पौड़ी (हरिद्वार) स्थित गुरुद्वारा ज्ञान गोदड़ी साहिब पर कब्जे के लिए दादू साहिब (हरियाणा) के मुखिया संत बलजीत सिंह दादू साहिब बलों के नेतृत्व में बड़ी संख्या में सिख श्रद्धालु हिमाचल के रास्ते उत्तराखंड की सीमा में प्रवेश का प्रयास कर रहे थे। तभी उत्तराखंड सरकार ने भारी पुलिस बल का प्रयोग कर श्रद्धालुओं को सीमा पर ही रोक दिया। सीमा पर रोके जाने से आक्रोशित श्रद्धालुओं ने हिमाचल-उत्तराखंड सीमा पर चक्का जाम लगा दिया। 

लगभग चार घंटे चक्का जाम के कारण दोनों ओर से आने वाले लोगों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। इस दौरान चक्का जाम पर बैठे श्रद्धालुओं के जलपान की व्यवस्था गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी पांवटा साहिब के सहयोग से की गई। बुधवार दोपहर बाद तक आम लोगों की दिक्कतों को देखते हुए हिमाचल पुलिस ने रूट बदल कर खोदरी-माजरी मार्ग आम लोगों के लिए खोल दिया। 

वहीं दोपहर बाद तक उत्तराखंड सरकार की ओर से कोई सकारात्मक संकेत न मिलता देख संत बलजीत सिंह दादू साहिब के नेतृत्व में श्रद्धालुओं ने पुलिस बैरिकेड तोड़ दिया। इसके चलते गुरद्वारा ज्ञान गोदड़ी साहिब धर्म युद्ध मोर्चा के मुखिया संत बलजीत सिंह दादू साहिब, कुंवर जपिंद्र सिंह, बाबा अवतार सिंह, गुरचरण सिंह बाबा, बाबा प्रदीप सिंह, सुखदेव सिंह, जग्गी सिंह, मलकीत सिंह, गुरदीप सिंह, भूरा सिंह, गुरदेव सिंह, महेंद्र सिंह सहित सैकड़ों सिख श्रद्धालुओं को उत्तराखंड पुलिस गिरफ्तार कर अज्ञात स्थान पर ले गई। 

डीएसपी पांवटा साहिब निश्चिंत नेगी ने बताया कि हरिद्वार जा रहे सिख श्रद्धालुओं को उत्तराखंड पुलिस ने प्रदेश की सीमा पर गिरफ्तार किया है। यह सांकेतिक गिरफ्तारी है, उन्हें शीघ्र रिहा कर दिया जाएगा।

शिमला विश्वविधालय में फीस वृद्धि को लेकर एबीवीपी का उग्र प्रदर्शन

फीस वृद्धि को लेकर एबीवीपी उग्र हो गई है। इसके चलते धर्मशाला एबीवीपी इकाई ने पीजी कालेज धर्मशाला में धरना-प्रदर्शन कर रैली निकाली है। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने विश्वविधालय शिमला द्वारा प्रोस्पेक्टस में की गई फीस में वृद्धि को लेकर कालेज में धरना-प्रदर्शन किया। एबीवीपी ने वाइस चांसलर और विश्वविद्यालय प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। 

इसके साथ ही वार्षिक परीक्षा फार्मों की फीस वृद्धि के कारण पीजी कालेज में एबीवीपी के कार्यकर्ताओं ने विश्वविद्यालय प्रशासन के खिलाफ उग्र आंदोलन करने की चेतावनी दी है। जल्द मांगें न जाने पर अंदोलन को तेज़ करते हुए प्रदेश भर के विश्वविद्यालयों का बहिष्कार करने की चेतावनी एबीवीपी ने दी है। इकाई ने रोष जताते हुए कहा कि विवि प्रशासन छात्र विरोधी फैसले कर रहा है। ऐसे में निर्धन परिवारों के छात्रों के लिए उच्च शिक्षा प्राप्त करना मुश्किल हो जाएगा। फीस में की गई वृद्धि का विरोध करते हुए उन्होंने कहा कि गरीब परिवारों से संबंधित बच्चों के लिए कालेज की फीस देना मुश्किल हो गया है। 

विवि ने फीस में वृद्धि करने से कालेज में पढ़ रहे निर्धन छात्र-छात्राओं का शोषण हो रहा है। उनका कहना है कि विवि प्रशासन इसी तरह अपने निर्णय पर अड़ा रहा तो संगठन इसके विरोध में प्रदेशव्यापी आंदोलन का बिगुल बजाने में जरा भी गुरेज नहीं करेगा। उनका कहना है कि महंगाई के इस दौर में जहां गरीब परिवारों के लिए दो वक्त की रोटी पूरी करना मुश्किल हो गया है, वहीं दूसरी तरफ इस फीस वृद्धि के कारण छात्र-छात्राओं को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। 

उनका कहना है कि इस फीस वृद्धि को रोका जाना चाहिए। धर्मशाला कालेज के एससीए अध्यक्ष अंशुल शर्मा, उपाध्यक्ष ओसीन शर्मा व इकाई अध्यक्ष मुनीष अवस्थी, ममता, प्रांत कार्यकारिणी सदस्य आतिष गुलेरिया, शिवाजी हंस, आदित्य पंडित, अमन, शुशांत, अलपा, नेहा राणा, चंदन, राहुल, अमन, सोरभ, कर्णेश्वर, व अर्चना सभी कार्यकर्ता रैली में मौजूद रहे। उनका कहना है कि अगर फीस वृद्धि पर विश्वविधालय ने रोक नहीं  लगाई तो कालेज मंे हड़तालें की जाएंगी।

Vishwa Bandhu Gupta exposing Sonia Gandhi Corruption and Black money

अब आर.पी सिंह ने यू टर्न लेते हुए जोशी का बचाव किया


टेलिकॉम घोटाले और सीएजी रिपोर्ट पर चल रहे घटनाक्रम ने उस वक्त नया मोड़ ले लिया जब पूर्व सीएजी अधिकारी आर. पी. सिंह ने कहा कि उन्होंने कभी यह दावा नहीं किया था कि पब्लिक अकाउंट कमिटी (पीएसी) के चेयरमैन मुरली मनोहर जोशी ने कैग की रिपोर्ट को प्रभावित किया। 

2जी स्पेक्ट्रम आवंटन से 1.76 लाख करोड़ रुपये के नुकसान के आकलन को गलत बताने वाले सिंह ने कहा कि उनके बयान को एक अखबार ने गलत तरीके से प्रचारित किया।

23 नवंबर को एक अखबार ने सिंह के हवाले से लिखा था कि 2जी स्पेक्ट्रम आवंटन में नुकसान का फॉर्म्युला जोशी ने सुझाया था। इसके बाद ही नुकसान का आकलन बढ़ाकर कैग ने 1.76 लाख करोड़ रुपये कर दिया। सिंह के इस कथित खुलासे के बाद कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पहली बार पूरे मामल में हमला बोलते हुए 2जी स्कैम के आंकड़े को बीजेपी की साजिश करार दिया था। परोक्ष रूप से सोनिया ने कैग पर भी निशाना साधा था। सिंह के ताजा बयान से 2जी स्कैम को बीजेपी की साजिश साबित करने में जुटी कांग्रेस और सरकार की मुहिम को थोड़ा झटका लगा है।

सिंह ने रविवार को साफ किया कि उन्होंने रिपोर्ट को लेकर पीएसी चेयरमैन मुरली मनोहर जोशी पर कभी सवाल नहीं खड़े किए। जोशी पर आरोप लगाने से इनकार करते हुए कैग के पूर्व अधिकारी ने कहा, ‘वह ऐसा नहीं करेंगे क्योंकि उनके पास इस बात का कोई दस्तावेजी सुबूत नहीं है।’

पूर्व सीएजी अधिकारी ने अपने ऊपर कांग्रेस का मोहरा होने के आरोप का भी खंडन किया। उन्होंने कहा कि उनका यूपीए के साथ न तो कोई रिश्ता है और न ही नेताओं से कोई बातचीत हुई है। उन्होंने कहा कि मैंने राजनीति से प्रेरित होकर कुछ भी नहीं कहा है।

गौरतलब है कि सिंह ने कैग और पीएसी के बीच मिलीभगत का अप्रत्यक्ष आरोप लगाया था। उन्होंने दावा किया था कि कैग ने नवंबर 2010 में 2जी घोटाले पर संसद को रिपोर्ट सौंपी थी, लेकिन इसके पहले से ही कैग और पीएसी के अधिकारियों के बीच बहुत अच्छे संबंध थे। उन्होंने यह भी कहा था कि कैग के अधिकारी 22 अप्रैल 2011 को मुरली मनोहर जोशी से मिलने उनके घर गए थे। हालांकि, जोश ने इस बारे में कहा था कि बतौर पीएसी चेयरमैन उन्होंने कैग को बुलाया था, उसके अधिकारियों को नहीं।

पिछले साल सितंबर में सीएजी के डीजी (पोस्ट ऐंड टेलिकम्युनिकेशन्स) पद से रिटायर होने वाले सिंह ने कहा था कि उनके वरिष्ठ अधिकारियों ने लिखित आदेश दिया था जिसकी वजह से उन्होंने 2जी स्पेक्ट्रम में 1.76 लाख करोड़ के अनुमानित घाटे वाली रिपोर्ट में दस्तखत करने पड़े। आरपी सिंह कैग की उस टीम की अगुआई कर रहे थे जिसने 2जी स्पेक्ट्रम आवंटन का ऑडिट किया था।

लश्कर-ए-तैयबा ने माता वैष्णो देवी मंदिर पर हमले की धमकी दी


आतंकी गुट लश्कर-ए-तैयबा ने माता वैष्णो देवी के भवन व कटड़ा के आधार शिविर पर हमले की धमकी दी है। कटड़ा स्थित एक निजी होटल के मैनेजर को भेजी ई-मेल में लश्कर ने लिखा है कि वह अजमल कसाब की फांसी का हिसाब लेगा, अगर इस हमले को रोक सकते हो तो रोक लो। 26/11 की बरसी से ठीक पहले लश्कर की इस धमकी को बेहद गंभीरता से लिया जा रहा है। पूरे राज्य में हाई अलर्ट जारी कर सभी संवेदनशील स्थानों की सुरक्षा बेहद कड़ी कर दी गई है। कसाब को फांसी दिए जाने के बाद लश्कर और तालिबान पहले ही भारतीयों पर हमले की धमकी दे चुके हैं। पुलिस यह भी पता लगाने में जुट गई है कि वाकई ई-मेल लश्कर ने ही भेजा है या किसी की शरारत है।

जानकारी के अनुसार, शनिवार रात कटड़ा-रियासी मार्ग पर स्थित एक निजी होटल के मैनेजर को उसके लैपटॉप पर लश्कर के नाम से धमकी भरा ई-मेल आया। इसमें कसाब की मौत का बदला लेने के लिए वैष्णो देवी भवन व आधार शिविर को उड़ाने की बात कही गई है। होटल मैनेजर ने तुरंत इसकी जानकारी पुलिस को दी। देर रात ही कटड़ा से भवन तक सुरक्षा बेहद कड़ी कर दी गई।

ऊधमपुर-रियासी रेंज के डीआइजी जगजीत कुमार सहित पुलिस व सुरक्षा एजेंसी के वरिष्ठ अधिकारी कटड़ा पहुंच गए। रविवार लैपटॉप को जब्त कर सुरक्षा एजेंसियां ई-मेल की जांच में जुटी हैं। जम्मू से आइबी की एक टीम भी कटड़ा पहुंच गई है। आइजी दिलबाग सिंह ने बताया कि धमकी भरा ई-मेल बेंगलूर से आया है। आगे की जांच के लिए टीम जल्द बेंगलूर रवाना होगी। पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

डीआइजी जगजीत कुमार ने कहा कि जल्द ही पता लगा लिया जाएगा कि ई-मेल किसने भेजा है। श्रद्धालुओं की सुरक्षा के लिए भवन, यात्रा मार्ग व आधार शिविर कटड़ा में चौकसी बेहद मजबूत कर दी गई है। गौरतलब है कि 2003 में हिजबुल मुजाहिद्दीन के आतंकी मुहम्मद यूसुफ ने बाण गंगा के समीप गुलशन कुमार के लंगर पर ग्रेनेड से हमला किया था। इसमें सात श्रद्धालु मारे गए थे और 50 घायल हुए थे।

Join our WhatsApp Group

Join our WhatsApp Group
Join our WhatsApp Group

फेसबुक समूह:

फेसबुक पेज:

शीर्षक

भाजपा कांग्रेस मुस्लिम नरेन्द्र मोदी हिन्दू कश्मीर अन्तराष्ट्रीय खबरें पाकिस्तान मंदिर सोनिया गाँधी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ राहुल गाँधी मोदी सरकार अयोध्या विश्व हिन्दू परिषद् लखनऊ उत्तर प्रदेश मुंबई गुजरात जम्मू दिग्विजय सिंह मध्यप्रदेश श्रीनगर स्वामी रामदेव मनमोहन सिंह अन्ना हजारे लेख बिहार विधानसभा चुनाव बिहार लालकृष्ण आडवाणी मस्जिद स्पेक्ट्रम घोटाला अहमदाबाद अमेरिका नितिन गडकरी सुप्रीम कोर्ट चुनाव पटना भोपाल कर्नाटक सपा आतंकवाद सीबीआई आतंकवादी पी चिदंबरम ईसाई बांग्लादेश हिमाचल प्रदेश उमा भारती बेंगलुरु अरुंधती राय केरल जयपुर उमर अब्दुल्ला डा़ प्रवीण भाई तोगड़िया पंजाब महाराष्ट्र हिन्दुराष्ट्र इस्लामाबाद धर्म परिवर्तन मोहन भागवत राष्ट्रमंडल खेल वाशिंगटन शिवसेना सैयद अली शाह गिलानी अरुण जेटली इंदौर गंगा हिंदू गोधरा कांड बलात्कार भाजपायूमो मंहगाई यूपीए साध्वी प्रज्ञा सुब्रमण्यम स्वामी चीन दवा उद्योग बी. एस. येदियुरप्पा भ्रष्टाचार हैदराबाद कश्मीरी पंडित काला धन गौ-हत्या चेन्नई तमिलनाडु नीतीश कुमार शिवराज सिंह चौहान शीला दीक्षित सुषमा स्वराज हरियाणा हिंदुत्व अशोक सिंघल इलाहाबाद कोलकाता चंडीगढ़ जन लोकपाल विधेयक नई दिल्ली नागपुर मुजफ्फरनगर मुलायम सिंह रविशंकर प्रसाद स्वामी अग्निवेश अखिल भारतीय हिन्दू महासभा आजम खां उत्तराखंड फिल्म जगत ममता बनर्जी मायावती लालू यादव अजमेर प्रणव मुखर्जी बंगाल मालेगांव विस्फोट विकीलीक्स अटल बिहारी वाजपेयी आशाराम बापू ओसामा बिन लादेन नक्सली अरविंद केजरीवाल एबीवीपी कपिल सिब्बल क्रिकेट तरुण विजय तृणमूल कांग्रेस बजरंग दल बाल ठाकरे राजिस्थान वरुण गांधी वीडियो हरिद्वार असम गोवा बसपा मनीष तिवारी शिमला सिख विरोधी दंगे सिमी सोहराबुद्दीन केस इसराइल एनडीए कल्याण सिंह पेट्रोल प्रेम कुमार धूमल सैयद अहमद बुखारी अनुच्छेद 370 जदयू भारत स्वाभिमान मंच हिंदू जनजागृति समिति आम आदमी पार्टी विडियो-Video हिंदू युवा वाहिनी कोयला घोटाला मुस्लिम लीग छत्तीसगढ़ हिंदू जागरण मंच सीवान

लोकप्रिय ख़बरें

ख़बरें और भी ...

राष्ट्रवादी समाचार. Powered by Blogger.

नियमित पाठक

Google+ Followers