ताज़ा समाचार (Fresh News)

हिंदूराष्ट्र स्थापना हेतु बेंगलुरू में हिंदू अधिवेशन का आयोजन

हिंदू जनजागृति समिति की ओर से १ दिसंबर को बनशंकरी, बेंगलुरू के संत श्री आसाराम जी आश्रम में हिंदू अधिवेशन का आयोजन किया गया था।

इस अधिवेशन में धर्माचार्य, अधिवक्ता तथा धार्मिक नेताओं के साथ १५० से अधिक हिंदू संगठनों के पदाधिकारी उपास्थित थे । अधिवेशन का उद्घाटन कुड्ली मठ के जगद्गुरु शंकराचार्य विद्याभिनव सरस्वती स्वामी जी, अधिवक्ता श्री. अमृतेश, प.पू. आसाराम बापू आश्रम के कर्नाटक प्रांत प्रचारक श्री. रविकुमार जी, हिंदू जनजागृति समिति के कर्नाटक राज्य समन्वयक श्री. मोहन गौडा ने दीपप्रज्वलन कर किया ।

अधिवेशनमें श्री रामसेना, हिंदू महासभा, इस्कॉन, भारत जागृत मोर्चा जैसे अनेक हिंदुत्ववादी संगठनोंने सहभाग लिया था । 

भाजपा ने की हत्या के आरोपी अजीमुल हक को गिरफ्तार करने की मांग

आंबेडकरनगर के टांडा कस्बे में हिंदू युवा वाहिनी नेता राम मोहन गुप्त की हत्या के बाद कस्बे में सांप्रदायिक तनाव बना हुआ है। प्रशासन इस कोशिश में जुटा है कि इस घटना को विरोधी दल किसी भी हालत मे सांप्रदायिक रंग न देने पाए।

इससे पहले राम मोहन के चाचा व हिंदू युवा वाहिनी के जिला अध्यक्ष राम बाबू की हत्या कर दी गई थी। इस बीच बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मीकांत वाजपेयी अकबरपुर कस्बे में पहुंच कर वहां कैंप लगाए हुए हैं। पुलिस ने टांडा के समाजवादी पार्टी के एमएलए अजीमुल हक पहलवान, रहमान, इरफान व साहिद के खिलाफ हत्या व हत्या की साजिश की धाराओं मे एफआईआर दर्ज कर ली है।

वाजपेयी ने प्रशासन को चेतावनी दी है कि अगर पांच दिनों के भीतर एमएलए हक को गिरफ्तार नहीं किया गया तो टांडा को केंद्र बनाकर प्रदेशव्यापी आंदोलन शुरू कर दिया जाएगा। प्रशासन ने टांडा कस्बे को सील कर दिया है। वहीं, डॉ. राम विलास वेदांती को प्रशासन ने गुरुवार को टांडा के रास्ते पर उस वक्त रोक लिया जब वे बस्ती से टांडा पहुंचने वाले थे। राम मोहन के परिवार वालों का आरोप है कि एसपी विधायक हक और उनके लोगों ने ही राम मोहन की हत्या की है। राम बाबू की हत्या में भी एमएलए शामिल थे।

साहिद व रहमान को पुलिस ने उस समय ही गिरफ्तार किया था पर एमएलए हक ने साहिद को पुलिस कस्टडी से जबरन छुड़वा लिया था। रहमान हाल ही में जेल से छूटकर आया था और राम बाबू के भतीजे की हत्या कर दी गई। अब एसपी एमएलए को बचाने की वही कहानी दोहराई जा रही है। कस्बे के नाजुक हालात को देखते हुए वहां सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए हैं। भारी संख्या मे सुरक्षा बल तैनात है और पुरे जिले मे अलर्ट घोषित कर दिया गया है। सरकारी सूत्रों का दावा है कि जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

दाह संस्कार अभी नहीं: मृतक राम मोहन की लाश का दाह संस्कार अभी नहीं होने दिया गया। लाश को रखकर धरना हो रहा है। मांग की जा रही है कि एमएलए सहित अन्य आरोपियों को गिरफ्तार किया जाए। प्रशासन बातचीत करके लाश का पोस्टमॉर्टम कराना चाहता है।

हत्या पर राजनीति शुरूः राम बाबू की हत्या को लेकर बीजेपी ने पहले आंदोलन चलाया पर एसपी सरकार ने राम बाबू परिवार को सरकारी राहत तक नहीं दी। बीजेपी ने आरोप लगाया है कि मुस्लिम परस्ती के चलते ही एमएलए पर कार्रवाई रामबाबू की हत्या प्रकरण में नहीं की गई। अब उनके भतीजे राम मोहन की हत्या के मामले मे एमएलए पहलवान की गिरफ्तारी को लेकर विरोधी दल खासकर बीजेपी पूरा दबाव बना रही है।

मलेशिया में हिंदू मंदिर की खुदाई से आक्रोश

मलेशिया में एक हिंदू मंदिर के ध्वंसावशेष की खुदाई के बाद लोगों के भड़क जाने का मामला प्रकाश में आया है. खबरों के मुताबिक भवन निर्माण उद्योग से जुड़े लोगों ने इस प्राचीन हिंदू मंदिर के अवशेषों की खुदाई कर दी जिसकी वजह से लोगों में नाराज़गी का माहौल व्याप्त है.

मलेशिया की बुजांग घाटी को पुरातात्विक महत्व की दृष्टि से सबसे समृद्ध इलाका माना जाता है.

देश के केदाह सूबे में ये इलाका सैकड़ों वर्ग मील के दायरे में फैला हुआ है. माना जाता है कि इस क्षेत्र में दो हजार साल पुरानी इमारतों के अवशेष मौजूद हैं.

पड़ोसी पेनांग प्रांत के उप मुख्यमंत्री पलीनासामी रामासामी ने उस जगह के मुआयना करने के बाद स्थानीय अखबार मलय मेल ऑनलाइन को बताया कि सुंगाई बातु में स्थित मंदिर को भवन निर्माण उद्योग से जुड़े लोगों ने ध्वस्त कर दिया है.

रामासामी के मुताबिक ये घटना एक महीने से भी ज्यादा पुरानी है. इस घटना का असर सोशल मीडिया पर भी देखा गया. सोशल मीडिया पर मौजूद लोगों में बेहद नाराज़गी का माहौल है.

कुछ लोग कह रहे हैं कि उस जगह की हिफ़ाज़त नहीं की गई जबकि कुछ ने सरकार पर आरोप लगाया कि ये मलेशिया में इस्लाम के उदय से पहले के इतिहास को नष्ट करने की कोशिश है.

ट्विटर पर एक व्यक्ति ने अपनी भावनाएँ कुछ इन शब्दों में जाहिर कीं, "कोई इज्जत नहीं है. अगर किसी चीज का इस्लाम से कोई जुड़ाव नहीं है तो उसकी कोई अहमियत भी नहीं है."

इस सिलसिले में फ़ेसबुक पर एक पेज भी बनाया गया है "वन मिलियंस लाइक टू बुजांग वैली." फ़ेसबुक पेज की शुरुआत के पहले ही दिन ही सात हजार लोगों ने इस पर अपनी उपस्थिति दर्ज कराई

केदाह सूबे के अधिकारी लोगों की प्रतिक्रियाओं से हैरत में हैं. उन्होंने कहा है कि उस मंदिर के ध्वंसावशेष एक निजी ज़मीन पर थे और सरकारी दस्तावेजों में उस इमारत को ऐतिहासिक महत्व की रचना के तौर पर रजिस्टर्ड नहीं किया गया था. इस सरकारी प्रतिक्रिया से लोगों में नाराजगी और बढ़ गई.

कई लोगों ने सरकार से ये अपील भी की है कि वह पुरातत्व विज्ञान के जानकारों के साथ इस इलाके के बचे हुए ध्वंसावशेषों को ब्यौरा दर्ज करे.

यूपी सरकार तुष्टीकरण की पराकाष्ठा पार कर गई है - हिंदू महासभा

प्रदेश के हर थाने पर होगा मुस्लिम दारोगा की घोषणा पर अखिल भारत हिंदू महासभा ने तीखी आलोचना व्यक्त की है। कहाकि सरकार तुष्टीकरण की नीति की पराकाष्ठा पार कर गई है। सरकार की मंशा कतई पूरी नहीं होने दी जाएगी।
अखिल भारत हिंदू महासभा के प्रदेश महामंत्री मनोज त्रिवेदी ने सरकार पर जमकर बरसे। 

उन्होंने प्रदेश सरकार पर जमकर भड़ास निकाली। कहाकि प्रदेश सरकार की घोषणाओं से हिंदुओं की भावनाएं आहत हो रही है। घोषणाओं पर कोर्ट को हस्तक्षेप करना पड़ रहा है। 

मुजफ्फरनगर कांड में पहले वर्ग विशेष को लाभ देने की घोषणा की गई। कोर्ट के आदेश के बाद दोनों वर्गो के प्रभावितों को लाभ मिला। महासभा मुस्लिम तुष्टीकरण के विरोध में 19 दिसंबर को विरोध करेगी। साथ ही 6 दिसंबर को विजय दिवस के मौके पर कलेक्ट्रेट में प्रदर्शन किया जाएगा। राष्ट्रपति से अयोध्या में राम मंदिर बनाने की मांग की जाएगी।

विहिप और संत समाज ने मोदी को प्रधानमंत्री बनाने का संकल्प लिया

विश्व हिंदू परिषद के अंतरराष्ट्रीय संरक्षक अशोक सिंहल के साथ बैठक कर संत समाज ने नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री बनाने का संकल्प लिया। सिंहल ने कहा कि धार्मिक स्वाधीनता आंदोलन का समय आ गया है।

धर्मनगरी चित्रकूट में नौ दिवसीय श्रीराम महायज्ञ शुभारंभ करने आए श्री सिंहल ने भाजपा के पीएम वेटिंग नरेंद्र मोदी को एक मात्र हिंदू क्षत्रप बताया। उन्होंने संत समाज से कहा कि वर्ष 2014 का लोक सभा चुनाव धार्मिक स्वाधीनता का आंदोलन है। रामजन्म मंदिर को कोर्ट नहीं संसद ही बना सकती है। कानून बनाने के लिए हिंदूवादी नेतृत्व की जरूरत है। इस समय देश में हिंदू विरोधी नेतृत्व है। सिंहल ने मंदिर न बनाने के लिए अटल बिहारी की सरकार का बचाव किया। उन्होंने कहा कि उस समय भाजपा के सिर्फ 180 सांसद सदन में थे जो कानून नहीं बना सकते थे। अटल बिहारी ने खुद उनसे कहा था कि यदि वे कहें तो सरकार छोड़ने को तैयार हैं।

सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव पर प्रहार करते हुए विहिप नेता ने कहा कि वे मुस्लिम नेता आजम खां के कहने पर चलते हैं। प्रदेश में हिंदू संगठनों की बैठक पर प्रतिबंध लगा रखा है। कामदगिरि प्रमुख पीठाधीश्वर स्वामी रामस्वरुपाचार्य ने धर्मनगरी के संत समाज की ओर से श्री सिंहल को आस्वस्त किया कि नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री बनाने के लिए संत समाज पूरी ताकत लगा देगा।

नारायण साईं कुरूक्षेत्र से गिरफ्तार

बलात्कार के आरोपी नारायण साईं को आखिरकार दो महीने की मशक्कत के बाद पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.

नारायण साईं को सूरत और पुलिस के ज्वाइंट ऑपरेशन में कुरुक्षेत्र के पीपली से बीती रात गिरफ्तार किया गया.

जब नारायण को गिरफ्तार किया गया तो वो सिख की वेशभूषा में था.

नारायण साईं के सहयोगी भी गिरफ्तार किए गए हैं. सूरत और दिल्ली पुलिस के साझा अभियान में नारायण को गिरफ्तार किया गया.

नारायण साईं पर रेप का आरोप था और आरोप लगने के बाद ये फरार हो गया था. खबर है कि दोपहर दो बजे उसे दिल्ली के रोहिणी कोर्ट में पेश किया जाएगा.

खबर के मुताबिक नारायण एक गौशाला में छुपा था, जिस वक्त पुलिस ने छापा मारा तो वो भाग कर एक पंप में जा छुपा जहां से उसे गिरफ्तार कर लिया गया. 

तो क्या हरियाणा के प्रशासन ने नारायण साईं को छिपा रखा था ... वाह रे कांग्रेस के खेल ..

महारानी एलिजाबेथ से भी अमीर है सोनिया गांधी

कांग्रेस की चेयरपर्सन सोनिया गांधी ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ-2 से भी अमीर है। यह खुलासा अंग्रेजी अखबार हफिंगटन पोस्ट वर्ल्ड ने किया है। अखबार ने दुनियाभर के 20 सबसे ज्यादा अमीर नेताओं की सूची जारी की है। इसमें सोनिया गांधी ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ, ओमान के सुल्तान, मोनाको के राजकुमार और कुवैत के शेख से भी अमीर है। इस सूची में सोनिया को 12वां स्थान मिला है। 

सूची में सक्रिय राजा, राष्ट्रपति, सुल्तान और महारानियों को शामिल किया गया है। इस सूची में ज्यादात्तर पुरूषों का कब्जा है। अखबार ने सोनिया गांधी की कुल संपत्ति दो बिलियन अमरीकी डॉलर आंकी है। इसमें सबसे ज्यादा अमीर नेता मिडल इस्ट के शामिल हैं। सोनिया गांधी और ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ-2 की संपत्ति में 400 ले 500 मिलियन अमरीकी डॉलर का फर्क है। सोनिया, महारानी से काफी अमीर हैं। 

इस सूची में पहला स्थान रूस के राष्ट्रपति ब्लादमीर पुतिन को मिला है जिनका कुल संपत्ति 40 बिलियन अमरीकी डॉलर आंकी गई है। इनके बाद दूसरा नंबर थाइलैंड के राजा भूमिबोल अदुल्यादेज का है जिनकी कुल संपत्ति 30 बिलियन अमरीकी डॉलर है। 

एसोशिएसन फॉर डेमोक्रेटिक राइट्स की वेबसाइट नेशनल इल्केशन वाच के मुताबिक सोनिया गांधी की कुल संपत्ति 1.38 करोड़ रूपए की है। वेबसाइट के मुताबिक सोनिया के पास न ही अपनी कार और न ही भारत में अपना घर है।

अमेठी में राहुल के खिलाफ संजय को उतार सकती है भाजपा

लोकसभा चुनाव में अमेठी का चुनाव कांग्रेस-भाजपा की सबसे दिलचस्प जंग में तब्दील हो सकता है। भाजपा अमेठी में राहुल गांधी के खिलाफ संजय ‌सिं‌ह को उतारने पर विचार कर रही है।

अगर ऐसा हुआ, तो कांग्रेस उपाध्यक्ष को ऐसे विरोधी से मुकाबला करना होगा, जो न केवल जोशीले माने जाते हैं, बल्कि रईस और स्‍थानीय स्तर पर विवादित नेता की छवि भी रखते हैं।

खास बात यह है कि संजय सिंह, राहुल के पिता राजीव गांधी के काफी करीबी रहे हैं और फिलहाल कांग्रेस सांसद हैं।

एक खबर के मुताबिक भाजपा के वरिष्ठ नेता ने बताया कि सुल्तानपुर से कांग्रेस सांसद और अमे‌ठी के ‘राजा’ कहे जाने वाले संजय सिंह भाजपा की तरफ से राहुल को चुनौती दे सकते हैं। पार्टी की सिंह से बातचीत चल रही है।

भाजपा ने सिंह को संभवतः यह पेशकश भी दी कि अगर वह राहुल के खिलाफ अमेठी से चुनाव हार जाते हैं, तो उन्हें राज्यसभा टिकट दी जाएगी। कांग्रेस नेता ने भी माना है कि उन्हें इस बातचीत की जानकारी है।

संपर्क करने पर संजय सिंह ने इस पर कोई भी टिप्पणी करने से इनकार कर दिया। भाजपा अध्यक्ष राजनाथ सिंह का कहना है कि अब तक इस मामले में कोई फैसला नहीं किया गया है।

सिंह का सियासी करियर कई बदलाव देख चुका है। सिंह के पिता रणंजय सिंह को नेहरू-गांधी परिवार को अमेठी तक लाने का श्रेय दिया जाता है। लेकिन सिंह ने गांधी परिवार का साथ छोड़ 1988 में वीपी सिंह का दामन थाम लिया था।

दस साल बाद वह फिर कांग्रेस छोड़ गए और भाजपा के लिए सीट जीती। अगले साल वाजपेयी की अगुवाई में वह भाजपा के लिए फिर लड़े, लेकिन रायबरेली से सोनिया गांधी के खिलाफ हार गए।

2003 में दोबारा कांग्रस में आए संजय सिंह सुल्तानपुर से जीते। इन चुनावों में उत्तर प्रदेश की 22 लोकसभा सीट कांग्रेस के खाते में गई, जबकि केवल दस भाजपा को मिली।

जम्मू में नमो गर्जना, धारा 370 का किया विरोध

भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने कल जम्मू के मौलाना आजाद स्टेडियम में ललकार रैली के दौरान धारा 370 के बहाने केंद्र सरकार पर फिर हमला किया. उन्होंने कहा, जम्मू-कश्मीर में धारा 370 से यहां के सामान्य लोगों का भला हुआ है? अब धारा 370  कवच के रूप में इस्तेमाल हो रही है. उसे साम्प्रदायिकता से जोड़ा जा रहा है. सरकार सिर्फ सेक्युलरिज्म के नाम पर जिम्मेदारी से बचती रही है. मोदी ने कहा, मैं हिन्दू मुस्लिम की बात नहीं करता, मैं सवा सौ करोड़ लोगों की बात करता हूं.

मोदी ने जम्मू-कश्मीर की मौजूदा हालत के लिए पंडित जवाहरलाल नेहरू को जिम्मेदार ठहराया. उन्होंने कहा कि 60 सालों के इतिहास से पता चलता है कि जम्मू कश्मीर को लेकर श्यामा प्रसाद मुखर्जी की सोच सही थी. पंडित नेहरू ने श्यामा प्रसाद मुखर्जी की बात को नजरंदाज किया.

उन्होंने कहा, आतंकवाद से लड़ते हुए हमारे कई देशभक्त सिपाही शहीद हो गए. जान हथेली पर लेकर देश की रक्षा करने वाले सभी सैनिकों का आदर करता हूं. लेकिन आतंकवाद से निपटने के मुद्दे पर दिल्ली की सरकार सोई हुई है. पाकिस्तान की जेलों हिंदुस्तान के दो जवान सरबजीत और चमेल सिंह को मारा गया. मैं पण्डित प्रेमनाथ डोगरा को भी याद करना चाहता हूं. जैसा उनके साथ हुआ वैसा ही सरबजीत सिंह और चमेल सिंह के साथ हुआ. अगर भारत ने अपनी आवाज बुलंद की होती तो शायद सरबजीत सिंह की मौत नहीं होती. पर सरकार सोती रही.

मोदी ने कहा कि जम्मू कश्मीर के साथ मेरा करीबी रिश्ता रहा है. किसी ने मुझे 25 साल पुराना फोटो दिया. इस फोटो को देखर मेरी पुरानी यादें ताजा हो गई. मैंने यहां बहुत काम किया है. मैं आज महाराजा हरि सिंह को याद करना चाहता हूं. अगर उन्हें 1974 के बाद फैसले लेने की मुख्य धारा में शामिल किया जाता तो आज स्थितियां अलग होती. हरि सिंह ने समाज के लिए काम किया था. उन्होंने लड़कियों की शिक्षा के लिए खूब काम किया. उन्होंने छुआछूत के खिलाफ भी आवाज बुलंद की थी.

मोदी ने कहा कि जम्मू कश्मीर को अलग स्टेट की बजाय सुपर स्टेट बनाना चाहिए. मोदी ने कहा कि दिल्ली की सरकार इतनी गहरी नींद में सोई हुई है कि उसे लोगों का गुस्सा भी जगा नहीं सकता. उन्होंने कहा कि क्या ऐसी कोई सरकार है जो उस वक्त भी सोती रहती है जब लोगों को मारा जा रहा हो.

मोदी ने केंद्र के साथ राज्य की उमर सरकार पर भी निशाना साधा. मोदी ने कहा है कि जम्मू-कश्मीर में मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला को जो अधिकार हासिल हैं, वह उनकी बहन सारा को हासिल नहीं हैं. मोदी ने कहा, सारा ने कश्मीर के बाहर शादी की और उसके सारे अधिकार छीन लिए गए. जो अधिकार उमर को मिलते हैं, वह उनकी बहन सारा को भी मिलने चाहिए.

मोदी ने केंद्र सरकार पर धारा 370 पर चर्चा न करने का आरोप लगाया. उन्होंने जवाहर लाल नेहरू का जिक्र करते हुए कहा था उन्होंने भी कहा था यह एक दिन खत्म हो जाएगी, लेकिन केंद्र सरकार इस पर चर्चा करने को तैयार नहीं है. उन्होंने कहा, जम्मू में धारा 370 का भी इस्तेमाल हो रहा है. समय की मांग है कि जनता की भलाई को देखते हुए इस पर चर्चा हो. पंडित नेहरू ने कहा था यह धारा समय रहते घिसते घिसते घिस जाएगी. लेकिन सरकार इस पर चर्चा तक को तैयार नहीं है. धारा 370 का उपयोग कवच के तौर पर हो रहा है. इसे सांप्रदायिकता के गहने पहना दिए गए हैं.

मोदी ने अपने भाषण में पाकिस्तानी जेल में मारे गए चमेल सिंह का भी जिक्र किया और इसके लिए केंद्र सरकार को जिम्मेदार ठहराया. उन्होंने कहा,पाकिस्तान में दो घटनाएं घटीं. एक की तरफ मीडिया का ध्यान गया, लेकिन दूसरी घटना को भुला दिया गया. पाकिस्तान की जेलों में हिंदुस्तान के दो बेगुनाह नौजवान बंद थे. एक पंजाब के थे सरबजीत और दूसरे हमारे जम्मू के चमेल सिंह. जिस जेल के अंदर सरबजीत को मारा गया, जिस तरीके से मारा गया, वैसे ही उस जेल में एक हफ्ते पहले चमेल सिंह को मारा गया था. सरकार एक हफ्ते पहले जाग जाती तो सरबजीत आज जिंदा होते.

मोदी की रैली के मद्देनजर सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए थे, जिसके चलते शरदकालीन राजधानी में सिविल कर्फ्यू जैसी स्थिति हो गई है। सूत्रों के अनुसार वाहनों का आवागमन व व्यापारिक प्रतिष्ठान पूरी तरह बंद रहा. वहीं लोगों को रैली स्थल तक पहुंचाने के लिए पैदल ही तीन से पांच किलोमीटर का सफर तय करना पड़ा. सुबह से ही हज़ारों की संख्या में मोदी के समर्थक जम्मू के मौलाना आज़ाद स्टेडियम में एकत्रित हो गए थे! इसके पहले सुरक्षा व्यवस्था को चाक चौबंद कर दिया गया. चप्पे चप्पे पर सुरक्षा कर्मी तैनात थे और हर आने जाने वाले की तलाशी ली जा रही थी. पटना में मोदी रैली के हादसे को मद्देनज़र रखते हुए सुरक्षा विभाग कोई रिस्क नहीं लेना चाहता था.

Join our WhatsApp Group

Join our WhatsApp Group
Join our WhatsApp Group

फेसबुक समूह:

फेसबुक पेज:

शीर्षक

भाजपा कांग्रेस मुस्लिम नरेन्द्र मोदी हिन्दू कश्मीर अन्तराष्ट्रीय खबरें पाकिस्तान मंदिर सोनिया गाँधी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ राहुल गाँधी मोदी सरकार अयोध्या विश्व हिन्दू परिषद् लखनऊ उत्तर प्रदेश मुंबई गुजरात जम्मू दिग्विजय सिंह मध्यप्रदेश श्रीनगर स्वामी रामदेव मनमोहन सिंह अन्ना हजारे लेख बिहार विधानसभा चुनाव बिहार लालकृष्ण आडवाणी मस्जिद स्पेक्ट्रम घोटाला अहमदाबाद अमेरिका नितिन गडकरी सुप्रीम कोर्ट चुनाव पटना भोपाल कर्नाटक सपा आतंकवाद सीबीआई आतंकवादी पी चिदंबरम ईसाई बांग्लादेश हिमाचल प्रदेश उमा भारती बेंगलुरु अरुंधती राय केरल जयपुर उमर अब्दुल्ला डा़ प्रवीण भाई तोगड़िया पंजाब महाराष्ट्र हिन्दुराष्ट्र इस्लामाबाद धर्म परिवर्तन मोहन भागवत राष्ट्रमंडल खेल वाशिंगटन शिवसेना सैयद अली शाह गिलानी अरुण जेटली इंदौर गंगा हिंदू गोधरा कांड बलात्कार भाजपायूमो मंहगाई यूपीए साध्वी प्रज्ञा सुब्रमण्यम स्वामी चीन दवा उद्योग बी. एस. येदियुरप्पा भ्रष्टाचार हैदराबाद कश्मीरी पंडित काला धन गौ-हत्या चेन्नई तमिलनाडु नीतीश कुमार शिवराज सिंह चौहान शीला दीक्षित सुषमा स्वराज हरियाणा हिंदुत्व अशोक सिंघल इलाहाबाद कोलकाता चंडीगढ़ जन लोकपाल विधेयक नई दिल्ली नागपुर मुजफ्फरनगर मुलायम सिंह रविशंकर प्रसाद स्वामी अग्निवेश अखिल भारतीय हिन्दू महासभा आजम खां उत्तराखंड फिल्म जगत ममता बनर्जी मायावती लालू यादव अजमेर प्रणव मुखर्जी बंगाल मालेगांव विस्फोट विकीलीक्स अटल बिहारी वाजपेयी आशाराम बापू ओसामा बिन लादेन नक्सली अरविंद केजरीवाल एबीवीपी कपिल सिब्बल क्रिकेट तरुण विजय तृणमूल कांग्रेस बजरंग दल बाल ठाकरे राजिस्थान वरुण गांधी वीडियो हरिद्वार असम गोवा बसपा मनीष तिवारी शिमला सिख विरोधी दंगे सिमी सोहराबुद्दीन केस इसराइल एनडीए कल्याण सिंह पेट्रोल प्रेम कुमार धूमल सैयद अहमद बुखारी अनुच्छेद 370 जदयू भारत स्वाभिमान मंच हिंदू जनजागृति समिति आम आदमी पार्टी विडियो-Video हिंदू युवा वाहिनी कोयला घोटाला मुस्लिम लीग छत्तीसगढ़ हिंदू जागरण मंच सीवान

लोकप्रिय ख़बरें

ख़बरें और भी ...

राष्ट्रवादी समाचार. Powered by Blogger.

नियमित पाठक

Google+ Followers