ताज़ा समाचार (Fresh News)

यूपी में हार का कारण केन्द्र में सरकार की भ्रष्ट इमेज- ए के एंटनी

भ्रष्टाचार, महंगाई और गलत रणनीति की वजह से कांग्रेस को विधानसभा चुनावों में हार का मुंह देखना पड़ा। चुनावी हार की समीक्षा के लिए बनाई गई ए के एंटनी कमेटी की रिपोर्ट में ये कहा गया है। खबर है की रिपोर्ट में कांग्रेस के युवराज राहुल गांधी को क्लीन चिट दी गई है। 

माना जा रहा है कि कमेटी आज अपनी रिपोर्ट कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को सौंप सकती है।उत्तर प्रदेश के चुनावों में अगर राहुल का जादू नहीं चला तो उसके लिए पूरी पार्टी और प्रचार की रणनीति जिम्मेदार है। ए के एंटनी ने अपनी चुनावी समीक्षा रिपोर्ट में वो सारी बातें कह दी हैं जो आम चर्चा में हैं। 

यानी राहुल को छोड़कर कांग्रेस की रणनीति में सबकुछ गलत था। सूत्रों के मुताबिक एंटनी कमेटी ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि उत्तर प्रदेश में कांग्रेस की जबर्दस्त हार की कई वजहें रहीं जिनमें प्रमुख हैं।

- केन्द्र में यूपीए सरकार की भ्रष्ट इमेज।

- गलत मुद्दों को लेकर प्रचार।

- नेताओं का बड़बोलापन।

- बटला एनकाउंटर और अल्पसंख्यक आरक्षण जैसे मुद्दों का उलटा असर।

- राज्य स्तर पर नेतृत्व की कमी।

- टिकट बंटवारे में गलती।

हालांकि एंटनी कमेटी ने किसी नेता का नाम नहीं लिया है और हार के लिए किसी की जिम्मेदारी भी तय नहीं की गई है। पंजाब और गोवा में भी की हार की वजह चौंकाने वाले नहीं हैं। एंटनी कमेटी के मुताबिक पंजाब में पार्टी के भीतर अंदरुनी कलह, ग्रामीण इलाकों में अकालियों की ताकत को कम आंकना और टिकट बंटवारे में गलती को हार की बड़ी वजह बताया गया है। चुनाव प्रचार की शुरुआत में देरी को भी हार का कारण माना गया है।

गोवा की बात करें तो एंटनी कमेटी की रिपोर्ट में खनन घोटाला, टिकट बंटवारे में भाई भतीजावाद को चुनाव में हार की बड़ी वजह बताया गया है।

विधानसभा चुनावों में मिली करारी हार के बाद कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने रक्षा मंत्री ए के एंटनी, ऊर्जा मंत्री सुशील कुमार शिंदे और दिल्ली की मुख्यमंत्री शीला दीक्षित की सदस्यता वाली समीक्षा कमेटी बनाई थी। सूत्रों के मुताबिक कमेटी की रिपोर्ट पूरी हो गई है और आज एंटनी अपनी सिफारिशों के साथ ये रिपोर्ट सोनिया गांधी को सौंप देंगे।

हालांकि रिपोर्ट में सोनिया के उस वादे को पूरा नहीं कि गया है जिसमें उन्होनें चुनावी हार की जिम्मेदारी तय करने की बात की थी।

बुखारी को चढ़ा बुखार कहा -अपना हक्क छीन ले मुसलमान

दिल्ली जामा मस्जिद के शाही इमाम अहमद बुखारी ने मुसलमानों से कहा कि वे अपना हक छीनने को तैयार रहें। उन्होंने कहा कि प्रदेश की सपा सरकार ने मुसलमानों को उनका हक देने का वादा किया है। छह माह बाद इसकी समीक्षा की जाएगी। वह सिविल लाइन स्थित होटल में मीडिया से बात कर रहे थे।

शाही इमाम ने कहा कि हक भीख में मांगने से नहीं मिलता, इसे छीनना पड़ता है। यह तय करना होगा कि हक हासिल करना है। इसके लिए एकजुट होकर कोशिश करें। वह साथ देने को तैयार हैं। छह माह बाद देखा जाएगा कि यूपी सरकार ने मुसलमानों से जो वादे किए थे, उन पर कितना अमल हुआ है।

उन्होंने कहा कि पहले एक मुस्लिम को विधान परिषद की सीट दी जा रही थी, लेकिन उनके हस्तक्षेप के बाद दो सीटें मिलीं। शाही इमाम ने अपने दामाद को एमएलसी बनाए जाने पर भी सफाई दी। बोले, मैने दामाद के लिए सीट नहीं मांगी, लेकिन इस मुद्दे पर गुमराह करने की कोशिश की गई। कैबिनेट मंत्री आजम खां और जौहर यूनिवर्सिटी पर टिप्पणी करने से उन्होंने साफ इंकार कर दिया।

एक नन की आत्मकथा : चर्च में आध्यात्मिकता के बजाय वासना

केरल के कैथोलिक चर्च की एक पूर्व नन ने पादरियों और ननों के व्यभिचार का जिक्र अपनी आत्मकथा में किया है। इसके अलावा गर्भ में ही बच्चों को मार देने की बढ़ती प्रवृत्ति का भी उल्लेख है। इससे हंगामा खड़ा हो गया है। 

चर्च में होने वाले अनैतिक कृत्यों से परेशान सिस्टर मैरी चांडी ने 12 साल पहले कान्वेंट छोड़ दिया था। उनकी आत्मकथा 'ननमा निरंजवले स्वस्ति' औपचारिक रिलीज से पहले ही विवादित हो चुकी है। 

उन्होंने इसमें चर्च और उनके शिक्षण संस्थानों में व्याप्त 'अंधेरे' को उजागर करने की कोशिश की है। सिस्टर मैरी ने कहा, 'मैंने वायनाड गिरिजाघर में हासिल अनुभवों को सहेजने की कोशिश की है। चर्च के भीतर की जिंदगी आध्यात्मिकता के बजाय वासना से भरी थी। 

एक पादरी ने मेरे साथ बलात्कार की कोशिश की थी। मैंने उस पर स्टूल चलाकर इज्जत बचाई थी।' 

केरल के कैथोलिक समुदाय को झकझोर कर रखने वाली यह पहली किताब नहीं है। कुछ समय पहले चर्च की ही एक अन्य नन सिस्टर जेस्मी की पुस्तक 'आमेन: द आटोबायोग्राफी आफ ए नन' ने भी कॉन्वेंट में ढाए जा रहे जुल्मों को सामने लाने का काम किया था

Join our WhatsApp Group

Join our WhatsApp Group
Join our WhatsApp Group

फेसबुक समूह:

फेसबुक पेज:

शीर्षक

भाजपा कांग्रेस मुस्लिम नरेन्द्र मोदी हिन्दू कश्मीर अन्तराष्ट्रीय खबरें पाकिस्तान मंदिर सोनिया गाँधी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ राहुल गाँधी मोदी सरकार अयोध्या विश्व हिन्दू परिषद् लखनऊ उत्तर प्रदेश मुंबई गुजरात जम्मू दिग्विजय सिंह मध्यप्रदेश श्रीनगर स्वामी रामदेव मनमोहन सिंह अन्ना हजारे लेख बिहार विधानसभा चुनाव बिहार लालकृष्ण आडवाणी मस्जिद स्पेक्ट्रम घोटाला अहमदाबाद अमेरिका नितिन गडकरी सुप्रीम कोर्ट चुनाव पटना भोपाल कर्नाटक सपा आतंकवाद सीबीआई आतंकवादी पी चिदंबरम ईसाई बांग्लादेश हिमाचल प्रदेश उमा भारती बेंगलुरु अरुंधती राय केरल जयपुर उमर अब्दुल्ला डा़ प्रवीण भाई तोगड़िया पंजाब महाराष्ट्र हिन्दुराष्ट्र इस्लामाबाद धर्म परिवर्तन मोहन भागवत राष्ट्रमंडल खेल वाशिंगटन शिवसेना सैयद अली शाह गिलानी अरुण जेटली इंदौर गंगा हिंदू गोधरा कांड बलात्कार भाजपायूमो मंहगाई यूपीए साध्वी प्रज्ञा सुब्रमण्यम स्वामी चीन दवा उद्योग बी. एस. येदियुरप्पा भ्रष्टाचार हैदराबाद कश्मीरी पंडित काला धन गौ-हत्या चेन्नई तमिलनाडु नीतीश कुमार शिवराज सिंह चौहान शीला दीक्षित सुषमा स्वराज हरियाणा हिंदुत्व अशोक सिंघल इलाहाबाद कोलकाता चंडीगढ़ जन लोकपाल विधेयक नई दिल्ली नागपुर मुजफ्फरनगर मुलायम सिंह रविशंकर प्रसाद स्वामी अग्निवेश अखिल भारतीय हिन्दू महासभा आजम खां उत्तराखंड फिल्म जगत ममता बनर्जी मायावती लालू यादव अजमेर प्रणव मुखर्जी बंगाल मालेगांव विस्फोट विकीलीक्स अटल बिहारी वाजपेयी आशाराम बापू ओसामा बिन लादेन नक्सली अरविंद केजरीवाल एबीवीपी कपिल सिब्बल क्रिकेट तरुण विजय तृणमूल कांग्रेस बजरंग दल बाल ठाकरे राजिस्थान वरुण गांधी वीडियो हरिद्वार असम गोवा बसपा मनीष तिवारी शिमला सिख विरोधी दंगे सिमी सोहराबुद्दीन केस इसराइल एनडीए कल्याण सिंह पेट्रोल प्रेम कुमार धूमल सैयद अहमद बुखारी अनुच्छेद 370 जदयू भारत स्वाभिमान मंच हिंदू जनजागृति समिति आम आदमी पार्टी विडियो-Video हिंदू युवा वाहिनी कोयला घोटाला मुस्लिम लीग छत्तीसगढ़ हिंदू जागरण मंच सीवान

लोकप्रिय ख़बरें

ख़बरें और भी ...

राष्ट्रवादी समाचार. Powered by Blogger.

नियमित पाठक

Google+ Followers