ताज़ा समाचार (Fresh News)

साध्वी प्रज्ञा ने एक बार फिर समता के आधार पर जमानत याचिका दी

साल 2008 के मालेगांव विस्फोट मामले में किसी साजिश के तहत गिरफ्तार साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने एक बार फिर 'समता के आधार' पर जमानत पाने के लिए नई जमानत याचिका दाखिल की है।

सर्वोच्च न्यायालय दो महीने पहले उनकी एक जमानत याचिका खारिज कर चुका है। इसी मामले के तीन अन्य सह-आरोपियों शिवनारायण कलसांगरा, श्याम साहू व अजय राहिरकर को बम्बई उच्च न्यायालय से अगस्त में ही जमानत मिल गई थी।

साध्वी प्रज्ञा के वकील गणेश सोवानी के मुताबिक उन्होंने मुम्बई की विशेष अदालत में जमानत याचिका दाखिल की है। सोवानी ने बताया कि साध्वी प्रज्ञा ने एक नियमित जमानत याचिका दाखिल की है और उनके खिलाफ दायर किए गए आरोप-पत्र के सकारात्मक और नकारात्मक तथ्यों पर चर्चा की है।

सोवानी ने बताया कि महाराष्ट्र संगठित अपराध नियंत्रण अधिनियम (मकोका) के विशेष न्यायाधीश वाई.डी. शिंदे ने मामले में सुनवाई के लिए पांच दिसंबर की तारीख तय की है और राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) से मामले में जवाब दाखिल करने के लिए कहा है।

नासिक जिले के मुस्लिम बहुल मालेगांव शहर में 29 सितम्बर, 2008 को हुए विस्फोट में छह लोग मारे गए थे और सैकड़ों घायल हुए थे। महाराष्ट्र आतंकवाद-विरोधी दस्ते (एटीएस) ने इस मामले में 12 लोगों को पकड़ा था।

साध्वी प्रज्ञा ने अपनी नई जमानत याचिका में दावा किया है कि आतंकवाद के इस मामले में न तो उनकी विशेष भूमिका तय की गई है और न ही उनके पास से कोई आपत्तिजनक सामग्री बरामद की गई है।

सीएजी पर सवाल उठाने पर दिग्गी को जोशी का करारा तमाचा

सीएजी और सरकार के बीच चल रही जंग के बीच बीजेपी के वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी ने बतौर पीएसी अध्यक्ष सीएजी पर दबाव डालने के आरोपों को गलत करार दिया है।

उन्होंने
वित्तमंत्री प्रणब मुखर्जी की भी तारीफ की है कि वे सीएजी के साथ खड़े हैं। जोशी का ये बयान कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह के उन आरोपों के जवाब में आया है कि सीएजी और पीएसी के बीच सांठ-गांठ है

दरअसल
टेलीकॉम घोटाले में सीएजी की रिपोर्ट पर राजनीति जारी है। इसकी गूंज बुधवार को सीएजी के 150 वें स्थापना समारोह में भी सुनाई दी। वित्त मंत्री प्रणब मुखर्जी की मौजूदगी में पीएसी चेयरमैन मुरली मनोहर जोशी ने कहा कि टेलिकॉम घोटाले की रिपोर्ट सरकार के खिलाफ आई है इसलिए सरकार के कुछ मंत्री सीएजी पर सवाल उठा रहे हैं।

बाद
में अपने घर पर सीएजी पर दबाव डालने के कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह के आरोपों को उन्होंने सिरे से खारिज किया।इसी के साथ जोशी ने वित्तमंत्री प्रणब मुखर्जी की तारीफ की है कि जब कांग्रेस के कई नेता हमला कर रहे हैं तो वे सीएजी के साथ खड़े हैं।

उन्होंने
इस सिलसिले में प्रणब मुखर्जी को एक चिट्ठी भी लिखी है। उधर, सीएजी विनोद राय ने भी साफ कहा है कि संस्था किसी दबाव में काम नहीं करती।दरअसल सीएजी अधिकारी आर बी सिन्हा के 13 जुलाई 2010 के एक पत्र का हवाला देते हुए कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने पीएसी चेयरमैन मुरली मनोहर जोशी पर सीएजी पर दबाव डालने का आरोप लगाया था।

कांग्रेस
ने सवाल किया था कि क्या जोशी की शह पर टेलीकॉम घोटाले में नुकसान के आंकड़ों को बढा-चढ़ा कर पेश किया गया। हालांकि सीएजी के ताजा रुख पर कांग्रेस अब अपने बयानों में नरमी बरत रही है।

मुस्लिमों की शादी को सिविल करार नहीं माना जा सकता - कोर्ट

राजधानी की एक अदालत ने कहा है कि मुस्लिमों की शादी को सिविल करार नहीं माना जा सकता। कोर्ट ने यह व्यवस्था एक व्यक्ति की याचिका पर सुनवाई करते हुए दी।

याचिका में व्यक्ति ने अपने दाम्पत्य सम्बंध की बहाली के लिए अदालत से निर्देश जारी करने की गुजारिश की थी। इस व्यक्ति का कहना था कि अपने माता-पिता के दबाव के कारण उसकी पत्नी ने उसे अकेला छोड़ दिया है।

अतिरिक्त जिला जज राजेन्दर कुमार शास्त्री ने मुल्ला के "प्रिन्सिपल्स ऑफ मोहम्मडन लॉ" की इस परिभाषा से भिन्न राय जताई कि निकाह एक करार है।

जज ने कहा, भरण-पोषण का हक, वंश चलाने का अधिकार, सुख-दुख बांटना, एक-दूसरे के प्रति लगाव, साझा मालिकाना और एकजुटता की भावना आदि बातें ऎसी विशेषताएं हैं जो कि शादी को सिविल करार से जुदा करती हैं।

जेसिका के कातिल कांग्रेस नेता मनु को एक बार फिर पेरोल मिली

जेसिका लाल मर्डर केस में सजा काट रहा मनु शर्मा को कोर्ट ने एक बार फिर 5 दिन का परोल दे दिया है। इसके लिए उसे 50 हजार रुपये का पर्सनल बॉन्ड भी भरना पड़ा है।

कोर्ट ने उसे परोल देते वक्त सख्त चेतावनी दी है कि इस दौरान वह नाइट क्लब में नहीं जाएगा, कोई भी गैरकानूनी गतिविधि में शामिल नही होगा ।

यह पेरोल उसे करनाल, अंबाला और चंडीगढ़ के लिए दी गई है। कोर्ट ने सख्त चेतावनी दी है कि अगर उन्होंने किसी भी तरह के शर्त का उल्लंघन किया तो उनका परोल कैंसल हो सकता है।

दिग्गी का नया शिफुगा -सीएजी प्रमुख और जोशी में सांठगांठ

कांग्रेस के अनियंत्रियतित बैड दिग्गी ने सीएजी के प्रमुख विनोद राय और पीएसी के अध्यक्ष मुरली मनोहर जोशी के बीच सांठगांठ का आरोप लगाया है। सिंह ने कहा कि जोशी ने सीएजी की रिपोर्ट संसद में रखने से पहले विनोद राय से मुलाकात की थी। दिग्गी ने कहा कि सीएजी की रिपोर्ट आने से पहले ही जोशी बोलने लग गए थे।

सिंह ने टि्वट किया है कि जोशी और राय की मुलाकात का सीएजी ने खण्डन किया था लेकिन अब दस्तावेजों से यह साफ हो गया है। नए तथ्य सामने आने के बाद नए सवाल खड़े हो रहे हैं। क्या राजस्व नुकसान का आंकड़ा बढ़ा चढ़ाकर पेश किया गया? क्या आंकड़े जल्दबादी में दिए गए? क्या यह पीएसी के अध्यक्ष के कहने पर किया गया? सिंह ने कैग की विश्वसनीयता को लेकर भी सवाल खड़े किए हैं।

भ्रष्टाचारियों का हश्र गद्दाफी जैसा होना चाहिए - स्वामी रामदेव

योग गुरु बाबा रामदेव ने आज भ्रष्टाचार के मुद्दे पर कहा कि गद्दाफी भ्रष्टाचार का प्रतीक है। उनके मुताबिक, 'जिन लोगों ने भ्रष्टाचार किया है और इस देश को लूटा है, वे गद्दाफी के चरित्र के प्रतिरूप हैं।' स्वाभिमान यात्रा पर उत्तर प्रदेश का दौरा कर रहे योग गुरु ने इसके बाद भ्रष्टाचारियों के अंजाम को लेकर टिप्पणी की।

उन्होंने
कहा कि भ्रष्टाचारियों का हश्र गद्दाफी जैसा होना चाहिए। लीबिया के पूर्व तानाशाह शासक मुअम्मार गद्दाफी को वहां के विद्रोहियों ने दौड़ा-दौड़ा पिटाई की और गोली मारकर हत्या कर दी थी। गद्दाफी ने चार दशकों से ज़्यादा समय तक लीबिया पर शासन किया था।

इससे पहले वाराणसी में बाबा रामदेव ने राहुल गांधी के इलाहाबाद के झूंसी में दिए गए बयान का मखौल उड़ाते हुए कहा था कि कांग्रेस के युवराज को जवाब नहीं, हिसाब देना है। रामदेव ने कहा था कि कांग्रेस कह रही है कि युवाओं के आक्रोश और किसानों के रोष का जवाब हम देंगे, लेकिन ये वक्त जवाब नहीं हिसाब देने का है। कांग्रेस भ्रष्टाचार और काले धन का हिसाब दे।

कांग्रेस ने सोमवार को झूंसी में राहुल की रैली के लिए 'जवाब हम देंगे' का नारा गढ़ा था। बाबा रामदेव ने कहा था कि अगर भीख भांगने के लिए किसी ने विवश किया है तो कांग्रेस ने किया है। उन्होंने कहा कि भूख अभाव के लिए कांग्रेस जिम्मेदार है। इससे पहले बाबा रामदेव भ्रष्टाचारियों को फांसी दिए जाने की मांग करते रहे हैं।

दूसरो को ज्ञान बांटने वाले अग्निवेश ने २० सालो से नही दिया किराया

विवादित बयानबाजी करने वाले स्वामी अग्निवेश विवादों से अपना पीछा नहीं छुड़ा पा रहे हैं। नई दिल्ली के पॉश लुटियंस जोन में मौजूद 7, जंतर मंतर रोड बंगले में वह पिछले 20 सालों से रह रहे हैं, लेकिन आज तक किराया नहीं चुकाया है।

बंगले
का मालिकाना हक रखने वाले सरदार वल्लभ भाई पटेल ट्रस्ट (एसवीबीपीटी) के प्रबंध ट्रस्टी वीरेश प्रताप चौधरी का कहना है कि उन्होंने एनडीएमसी समेत कई दफ्तरों में इस बाबत शिकायत की है, लेकिन अभी तक कुछ नहीं हुआ है।

अग्निवेश
के फेसबुक अकाउंट और उनकी वेबसाइट पर भी पते के तौर पर 7, जंतर मंतर रोड दर्ज है। एसवीबीपीटी ने बंगले के अलग-अलग हिस्सों को किराया पर दिया हुआ है।

एक
अंग्रेजी अखबार में छपी खबर में दावा किया गया है कि चौधरी से पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर ने कहा था कि वह स्वामी अग्निवेश को कुछ दिनों तक 7, जंतर मंतर रोड बंगले में रहने दें। लेकिन चौधरी का कहना है कि स्वामी अग्निवेश ने कभी भी बंगला छोड़ा ही नहीं। चौधरी ने जब चंद्रशेखर से इस बाबत बात की तो उन्होंने कहा, 'साधु लोग जहां जाते हैं, वहीं बस जाते हैं।'

कई दशकों से स्वामी अग्निवेश के सहयोगी रहे स्वामी आर्यवेश ने भी किराया न चुकाए जाने की पुष्टि की है, लेकिन उनका दावा है कि बंधुआ मुक्ति मोर्चा नाम से बिजली, पानी और रखरखाव के बिल का भुगतान किया जा रहा है।

स्वामी
अग्निवेश से जुड़े गैर सरकारी संगठनों-बंधुआ मुक्ति मोर्चा और सार्वदेशिक आर्य प्रतिनिधि सभा के भी दफ्तर इस बंगले के पीछे के हिस्से में मौजूद हैं।

Join our WhatsApp Group

Join our WhatsApp Group
Join our WhatsApp Group

फेसबुक समूह:

फेसबुक पेज:

शीर्षक

भाजपा कांग्रेस मुस्लिम नरेन्द्र मोदी हिन्दू कश्मीर अन्तराष्ट्रीय खबरें पाकिस्तान मंदिर सोनिया गाँधी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ राहुल गाँधी मोदी सरकार अयोध्या विश्व हिन्दू परिषद् लखनऊ उत्तर प्रदेश मुंबई गुजरात जम्मू दिग्विजय सिंह मध्यप्रदेश श्रीनगर स्वामी रामदेव मनमोहन सिंह अन्ना हजारे लेख बिहार विधानसभा चुनाव बिहार लालकृष्ण आडवाणी मस्जिद स्पेक्ट्रम घोटाला अहमदाबाद अमेरिका नितिन गडकरी सुप्रीम कोर्ट चुनाव पटना भोपाल कर्नाटक सपा आतंकवाद सीबीआई आतंकवादी पी चिदंबरम ईसाई बांग्लादेश हिमाचल प्रदेश उमा भारती बेंगलुरु अरुंधती राय केरल जयपुर उमर अब्दुल्ला डा़ प्रवीण भाई तोगड़िया पंजाब महाराष्ट्र हिन्दुराष्ट्र इस्लामाबाद धर्म परिवर्तन मोहन भागवत राष्ट्रमंडल खेल वाशिंगटन शिवसेना सैयद अली शाह गिलानी अरुण जेटली इंदौर गंगा हिंदू गोधरा कांड बलात्कार भाजपायूमो मंहगाई यूपीए साध्वी प्रज्ञा सुब्रमण्यम स्वामी चीन दवा उद्योग बी. एस. येदियुरप्पा भ्रष्टाचार हैदराबाद कश्मीरी पंडित काला धन गौ-हत्या चेन्नई तमिलनाडु नीतीश कुमार शिवराज सिंह चौहान शीला दीक्षित सुषमा स्वराज हरियाणा हिंदुत्व अशोक सिंघल इलाहाबाद कोलकाता चंडीगढ़ जन लोकपाल विधेयक नई दिल्ली नागपुर मुजफ्फरनगर मुलायम सिंह रविशंकर प्रसाद स्वामी अग्निवेश अखिल भारतीय हिन्दू महासभा आजम खां उत्तराखंड फिल्म जगत ममता बनर्जी मायावती लालू यादव अजमेर प्रणव मुखर्जी बंगाल मालेगांव विस्फोट विकीलीक्स अटल बिहारी वाजपेयी आशाराम बापू ओसामा बिन लादेन नक्सली अरविंद केजरीवाल एबीवीपी कपिल सिब्बल क्रिकेट तरुण विजय तृणमूल कांग्रेस बजरंग दल बाल ठाकरे राजिस्थान वरुण गांधी वीडियो हरिद्वार असम गोवा बसपा मनीष तिवारी शिमला सिख विरोधी दंगे सिमी सोहराबुद्दीन केस इसराइल एनडीए कल्याण सिंह पेट्रोल प्रेम कुमार धूमल सैयद अहमद बुखारी अनुच्छेद 370 जदयू भारत स्वाभिमान मंच हिंदू जनजागृति समिति आम आदमी पार्टी विडियो-Video हिंदू युवा वाहिनी कोयला घोटाला मुस्लिम लीग छत्तीसगढ़ हिंदू जागरण मंच सीवान

लोकप्रिय ख़बरें

ख़बरें और भी ...

राष्ट्रवादी समाचार. Powered by Blogger.

नियमित पाठक

Google+ Followers