ताज़ा समाचार (Fresh News)

आईपीएल विवादों पर कीर्ति आजाद का अनशन, रामदेव जी और अन्ना को भी न्योता

आईपीएल में एक के बाद एक हो रहे विवादों को लेकर भाजपा सांसद कीर्ति आजाद काफी खफा है। उन्होंने आईपीएल के खिलाफ अनशन पर बैठने का फैसला किया है। आजाद ने सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे और योग गुरू बाबा रामदेव को भी अनशन में शामिल होने का न्योता दिया है। 

आजाद ने आईपीएल प्लेयर की ओर से अमरीकी महिला से छेड़खानी की घटना पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि किसी जबरदस्त सिनेमा की स्क्रिप्ट तैयार की गई है। जिसमें एक रेप वाला मामला रह गया था वो भी अब सामने आ गया है। 

आईपीएल एक फिल्म की तरह है जिसमें ड्रामा,मारपीट, हिंसा जैसी घटनाओं को दिखाया जा रहा है। उन्होंने आरोप लगाया है कि देश में खेल के धर्म का मजाक उड़ाया गया है। कानून को ताक पर रख दिया गया है। यहां आईपीएलए बीसीसीआई सबसे ऊपर हैं। उन्होंने कहा कि यह तो देश में फिर से गुलामी की स्थिति पैदा हो गई है। विदेशी आएगा और रेप करके जाएगा। एक खिलाड़ी दूसरे खिलाड़ी को थप्पड़ मारेगा। स्पॉट फिक्सिंग को दबाया जाएगा।

बाबा रामदेव के ट्रस्ट पर कांग्रेसी नीचता की गिरी गाज


विश्व भर में भारत के योग आयुर्वेद का ज्ञान प्रकाश फैलाने वाले बाबा रामदेव के ट्रस्ट पर कांग्रेसी नीचता की गाज गिरी है। इस ट्रस्ट को अब तक धर्मार्थ संस्था का दर्जा प्राप्त था जिस कारण यह सस्ते दामों पर आयुर्वेदिक दवाएँ भारतीय एवं विदेशी उपभोक्ताओं को उपलब्ध करा पाता था। परन्तु इसे बाबा के फैलते साम्राज्य से घबराई बहुराष्ट्रीय दावा कंपनियों के पैसे की बदौलत हुयी कार्यवाही समझें या बाबा के भ्रष्टाचार विरोधी आन्दोलन में प्राण गंवाती कांग्रेस की फुफकार, अचानक बाबा के न्यास को धर्मार्थ संस्थाओं से हटा कर व्यावसायिक बना दिया गया है और आयकर विभाग ने २००९-२०१० में हुयी १२० करोड़ रुपये की आयुर्वेदिक दवाओं की बिक्री पर उन्हें ५८ करोड़ टैक्स जमा करने का आदेश दिया है। 

पतंजलि योग पीठ, दिव्या योग मंदिर ट्रस्ट एवं भारत स्वाभिमान ट्रस्ट पर यह राशि "व्यावसायिक गतिविधियों" में लिप्त होने का आरोप लगा कर ठोकी गयी है। राष्ट्र विरोधी एवं आयुर्वेद विरोधी इस कुकृत्य को करने के लिए आयकर विभाग ने बाबा के सभी ट्रस्ट का विशेष औडिट किया।

उधर बाबा के प्रवक्ता श्री तिजारावाला ने कहा है कि वे इस निर्णय के विरुद्ध आयकर आयुक्त से गुहार लगायेंगे।

सूत्रों ने यह भी बताया है कि प्रवर्तन निदेशालय द्वारा बाबा के विरुद्ध बैठाई गयी जांच में भी तेजी लाने की संभावना है। इसके अतिरिक्त बाबा के विभिन ट्रस्ट की इस वर्ष की आय पर पहले से ही टैक्स काटने की भी तैयारी है। बाबा को फेमा क़ानून के अंतर्गत ७ करोड़ के हेर-फेर के सिलसिले में भी परखा जा रहा है। यहाँ ध्यान देने वाली बात है कि दिव्या योग मंदिर, पतंजलि योग पीठ एवं भारत स्वाभिमान की कुल संपत्ति ४२५ करोड़ ही है और केवल एक वर्ष की आय के लिए ५८ करोड़ का टैक्स लगा है।

बाबा के समर्थकों में इस सूचना से रोष व्याप्त है और उनका स्पष्ट आरोप है कि ३ जून को होने वाले विशाल सत्याग्रह से पहले घबराई हुई कांग्रेस ऐसी नीचता का प्रदर्शन कर रही है।

साभार : hindi.ibtl.in 

शोषितों की लड़ाई लड़ते हैं नक्सली - ओम् पुरी

समाजसेवी अन्ना हजारे के आंदोलन के दौरान सांसदों के खिलाफ टिप्पणी कर विवादों में आए फिल्म अभिनेता अब एक नए संकट में फंसते नजर आ रहे हैं। इस बार उन्होंने नक्सलियों को लड़ाकू बताया है। ओमपुरी के इस बयान को एक क्षेत्रीय न्यूज चैनल ने प्रसारित किया है।

ओमपुरी निर्माता-निर्देशक प्रकाश झा की आने वाली फिल्म चक्रव्यूह की शूटिंग के सिलसिले में प्रसिद्ध पर्यटन स्थल पचमढ़ी आए हुए हैं। बताया गया है कि झा के साथ ओमपुरी और अन्य कलाकारों ने होशंगाबाद जिले के पचमढ़ी में मंगलवार को मीडिया के कुछ लोगों से बातचीत की।

वीडियो फुटेज में ओमपुरी यह कहते हुए सुनाई देते हैं कि नक्सलियों को आतंकवादी नहीं कहा जा सकता है। वह शोषितों की लड़ाई लड़ते हैं और व्यवस्था के खिलाफ हथियार उठाते हैं। ये लोग उन लोगों का अपहरण करते हैं, जो प्रशासन का जिम्मा संभालते हैं। नक्सली लड़ाकू हैं। इस वीडियो में झा के अलावा फिल्म के अन्य कलाकार भी नजर आ रहे हैं।

संसद में कारपोरेट लॉबी का खेल बंद कराया जेटली ने

संसद में कारपोरेट लॉबी की उंगलियों पर सांसद कैसे नाच रहे हैं, इसकी बृहस्पतिवार को उस समय पोल खुल गयी जब राज्यसभा के नेता विरोधी दल अरुण जेटली सदन में जाने को तैयार नहीं हुए.

भाजपा के अंदर भी दो धड़े हो गए जिसमें एक विधेयक के समर्थन में था तो दूसरा धड़ा कारपोरेट की उस लॉबी के साथ था जो विधेयक को रोकना चाहती थी.

पार्टी सांसदों के काफी मान मनौव्वल के बाद जब सदन में जेटली पंहुचे तो कड़ा रुख अपनाया. तब कहीं जाकर कॉपीराइट संशोधन विधेयक राज्यसभा में सरकार को लाना पड़ा. भाजपा के अंदर कॉपीराइट संशोधन विधेयक को लेकर सांसदों की एक लॉवी पक्ष में नहीं थी पर अरुण जेटली के दवाब में भाजपा ने उसका समर्थन किया.

कॉपीराइट संशोधन विधेयक को लंबे समय से लाने की कवायद राज्यसभा सदस्य जावेद अख्तर कर रहे थे. कॉपीराइट विधेयक के लाने से संगीत घरानों की कारपोरेट लॉबी को बड़ा नुकसान था.

इसलिए बड़ी कंपनिया इस विधेयक को रोकने में लग गई. कांग्रेस और भाजपा दोनों के बीच संगीत से जुड़ी बड़ी कंपनियां सक्रिय हुई और विधेयक को सदन में न रखा जाए उसके लिए पूरी तैयारी हुई. कारपोरेट लॉबी के कारण भाजपा में भी दो धड़े हो गए. एक तो कॉपीराइट के समर्थन में दूसरा विधेयक के विरोध में.

जेटली इस बात से काफी आहत थे कि कारपोरेट लॉबी के इशारे पर विधेयक को नहीं रोकने की कोशिश हो रही है. लेखकों, साहित्यकारों और गीतकारों का भी अपना दर्द है. कॉपीराइट संशोधन विधेयक न लाया जाए इसके लिए भाजपा की ओर से कई सांसद सक्रिय रहे और सदन में हंगामा किया जिससे कि यह लटक जाए.

इस बीच सदन में जेटली मौजूद नहीं थे. भाजपा के कई सांसद जेटली के पास आए कि सदन में चलें क्योंकि पार्टी के ही कुछ लोग कारपोरेट लॉबी के इशारे पर विधेयक को लटकाने के लिए हंगामा कर रहे हैं. हालांकि वह गुट काफी हद तक सफल भी रहा और सदन को 10 मिनट के लिए रोकना पड़ा.

खुद जावेद अख्तर भी अरुण जेटली को मनाने के लिए आए कि चलें और पार्टी के लोगों को समझाएं. बाद में जब फिर सदन शुरू हुआ तो जेटली सदन में काफी मानमनौव्वल के बाद पंहुचे और भाजपा और सरकार के अंदर कारपोरेट लॉबी के खेल को समेटा और फिर संशोधन विधेयक पर चर्चा शुरू करायी जा सकी.

शाहरुख खान पर आजीवन प्रतिबंध लगा

आईपीएल में अपनी टीम केकेआर की जीत का जश्न शाहरुख खान पर भारी पड़ गया। मैच में जीत के बाद शराब के नशे में धुत शाहरुख ने वानखेड़े स्टेडियम में इस कदर उत्पात मचाया कि नाराज प्रबंधन में अब यहां शाहरुख खान के प्रवेश पर आजीवन प्रतिबंध लगा दिया है। साथ ही उनके खिलाफ पुलिस में शिकायत भी दर्ज करवाई गई है।

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) पर विवादों का साया बढ़ता ही जा रहा है। स्पॉट फिक्सिंग और ब्लैक मनी के इस्तेमाल के आरोपों के बाद आईपीएल के चेहरे पर शाहरुख की इस हरकत ने कालिख पोत दी है। सूत्रों के मुताबिक, कल रात के कोलकाता नाइट राइडर्स और मुंबई इंडियन्स की मैच के बाद शराब के नशे में धुत शाहरुख खान ने वानखेड़े स्टेडियम में मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन के अधिकारियों और सुरक्षा कर्मचारियों से मारपीट और गाली-गलौज की। इस पर एमसीए ने पुलिस थाने में उनके खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। इसके बाद अब शाहरुख के स्टेडियम में प्रवेश पर भी आजीवन प्रतिबंध लगा दिया गया है।

एमसीए के कोषाध्यक्ष रवि सावंत ने बताया, ‘मुंबई और कोलकाता के बीच हुए मैच के बाद शाहरुख खान और उनके बॉडीगार्ड्स टीम के ड्रेसिंग रूम में गए और उसके बाद ग्राउंड में जाने लगे। एमसीए सिक्युरिटी कर्मचारियों ने उन्हें बताया कि मैच खत्म हो चुका है और वह मैदान पर नहीं जा सकते। इस पर शाहरुख खान ने एमसीए सिक्युरिटी अफसरों व कर्मचारियों के साथ खराब व्यवहार किया और उन्हें गालियां दीं। सिक्युरिटी गार्ड को थप्पड़ भी मारा और एमसीए अध्यक्ष विलास राव देशमुख के बारे में भला-बुरा कहा।

सावंत ने कहा पूरा मामला आईपीएल सीईओ सुंदर रमन और बीसीसीआई के मीडिया मैनेजर देवेंद्र प्रभुदेसाई की मौजूदगी में हुआ है। उन्होंने कहा कि बेशक हम बीसीसीआई में भी शाहरुख के खिलाफ शिकायत करेंगे। मुंबई में खेले गए इस मैच में कोलकाता ने मुंबई इंडियंस को 32 रनों से हरा दिया था।

अलगाववादियों के दबाव पर सरकार घटा रही अमरनाथ यात्रा की अवधि-भाजपा

राज्यसभा में विपक्ष के नेता अरूण जेटली ने पिछले कुछ सालों से वार्षिक अमरनाथ यात्रा की अवधि घटाये जाने पर कड़ी आपत्ति जताते हुए सरकार से इस बारे में जवाब मांगा और तीर्थयात्रा को पूरी अवधि तक निकाले जाने की अनुमति देने की मांग की। जेटली ने शून्यकाल में यह मुद्दा उठाते हुए कहा कि पवित्र गुफा मंदिर के लिए निकाली जाने वाली वार्षिक अमरनाथ तीर्थयात्रा में पिछले कुछ सालों से एक ओर यात्रियों की संख्या बढ़ती जा रही है, वहीं इस यात्रा की अवधि लगातार घटती जा रही है।

उन्होंने कहा कि पिछले साल आठ लाख लोगों ने अमरनाथ यात्रा में हिस्सा लिया था। उन्होंने कहा कि इस यात्रा से कश्मीर के लोगों को भी लाभ मिलता है क्‍योंकि या़त्रा के लिए सभी सेवाएं वे ही मुहैया कराते हैं। उन्होंने कहा कि विचित्र बात है कि अलगाववादियों के एक वर्ग के कारण इस यात्रा की अवधि घटाई जा रही है। इस अवधि को घटाने के पीछे सुरक्षा का कारण बताया जाता है। जेटली ने कहा कि 1950 के दशक में यह यात्रा चार माह चलती थी। 2010 में यह घट कर महज 54 दिन, 2011 में 44 दिन ही रह गई।

उन्होंने कहा कि इस साल इसे घटा कर 39 दिन करने की बात है। जेटली ने कहा कि आतंकवादियों ने इस तीर्थ यात्रा पर हमला किया था और कुछ लोगों की जान गई थी। लेकिन अब राज्य में आतंकवाद का खतरा उतना अधिक नहीं है। सुरक्षा की स्थिति अपेक्षाकृत बेहतर है इसलिए सरकार को यात्रा को उसकी पूरी अवधि में निकालने की कोशिश करनी चाहिए।

जेटली ने मांग की कि सरकार को इस मामले में बयान देना चाहिए। भाजपा के ही एम वेंकैया नायडू ने सदन में प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और वित्त मंत्री प्रणव मुखर्जी के बैठे होने की ओर ध्यान दिलाते हुए कहा कि यह लाखों लोगों की धार्मिक भावनाओं से जुड़ा मुद्दा है। प्रधानमंत्री को इस मामले में जवाब देना चाहिए। इस पर भाजपा के सदस्यों ने अपने स्थानों पर खड़े हो कर इस बात की मांग शुरू कर दी कि सरकार को जवाब देना चाहिए। सदस्यों को शांत कराते हुए पीठासीन अध्यक्ष पी जे कुरियन ने कहा कि वह आसन से सरकार को जवाब देने का निर्देश नहीं दे सकते।

हिंदुओं को एकजुट करेगी हिंदू युवा वाहिनी

हिंदू युवा वाहिनी की समीक्षा बैठक में हिंदुओं को एकजुट करने का संकल्प लिया गया। इसके साथ ही वाहिनी को तहसील व ग्राम स्तर तक संगठनात्मक रूप से मजबूत करने पर जोर दिया गया।

समीक्षा बैठक में विश्व हिंदू महासंघ के नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष योगी सिद्धनाथ महाराज ने कहा कि जात-पात से ऊपर उठकर हिंदुओं को एकत्र होकर धर्म की रक्षा के लिए लड़ाई लड़नी पड़ेगी। लिहाजा धर्म की रक्षा के लिए हिंदुओं से एकजुट होना पड़ेगा। बैठक में प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष भिखारी प्रसाद प्रजापति ने कहा कि योगी आदित्यनाथ के विचारों को पश्चिमी उत्तर प्रदेश के प्रत्येक हिंदुओं पहुंचाया जाएगा। उन्होंने कहा कि हिंदुओं का उत्पीड़न बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने संभल के सरायतरीन मुहल्ले में हुई घटना को सांप्रदायिक रंग देने की कोशिश पर विरोध जताया।

बैठक की अध्यक्षता हिंदू युवा वाहिनी के जिला प्रभारी पवन कुमार शर्मा उर्फ बंटी ने की जबकि संचालन जिलाध्यक्ष ध्यान सिंह सैनी ने किया। बैठक में विश्व हिंदू महासंघ के प्रदेश महासचिव ओमप्रकाश यादव, हिंदू युवा वाहिनी के प्रदेश उपाध्यक्ष एवं रुहेलखंड संभाग प्रभारी कुंवर स्वर्ण सिंह, वाहिनी के प्रदेश उपाध्यक्ष व मंडल प्रभारी सचिन बढ़ेरा, यतीश ठाकुर, कमल सिंह मौर्य, ताराचंद सैनी, मनोज कुमार गुप्ता, अमित शर्मा, दिलीप सैनी, विनोद सैनी, हनी शर्मा, चेतन चौहान व सुरेश सैनी आदि मौजूद रहे।

आखिर सचिन के मनोनयन का आधार क्या है. - हाईकोर्ट

दिल्ली हाईकोर्ट ने मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंडुलकर के बतौर राज्यसभा सदस्य के मनोनयन पर सरकार से जवाब तलब किया है. अदालत ने बुधवार को सरकार से पूछा कि आखिर किस आधार पर उसने सचिन को राज्यसभा सदस्य के तौर पर मनोनीत किया है.

दिल्ली हाईकोर्ट के इसे आदेश के बाद सरकार को अब सचिन के मनोनयन से जुड़ी जानकारी अदालत को देनी होगी. हाईकोर्ट ने एक याचिका पर सुनवाई करते हुए सरकार से चार जुलाई तक जवाब मांगा है कि आखिर मनोनयन का आधार क्या रहा है.

हालांकि, कोर्ट ने सचिन के शपथ लेने पर कोई रोक नहीं है, सूत्र बता रहे हैं कि सचिन 18 मई को राज्य सभा के सदस्यता की शपथ ले सकते हैं. अर्जी लगाने वाले ने सचिन के शपथ पर रोक लगाने की भी मांग की थी.

याचिकाकर्ता ने दलील दी है कि संविधान की धारा 80(सी) के तहत राष्ट्रपति राज्यसभा के लिए उन्ही लोगों का मनोनयन कर सकते हैं, जिनका साहित्य, विज्ञान, कला और सामाजिक सेवाओं के क्षेत्र में बड़ा काम हो.

याचिकाकर्ता ने यह भी दलील दी है कि संविधान में ऐसा कोई प्रावधान नहीं जिसमें किसी शख्स को खेल के मैदान से राज्यसभा में मनोनित किया जा सके.

जेहादियों के जुल्म का शिकार मंदिर 22 साल बाद फिर बनाया गया

डाउन-टाउन के रैनावारी स्थित 400 साल पुराने वैताल भैरव मंदिर में घंटियों की ध्वनि मंगलवार को फिर से गूंज उठी। 22 सालों से वीरान खंडहर में तब्दील हो चुके मंदिर में मरम्मत से पूर्व सनातन परंपराओं के मुताबिक पूजा-अर्चना हुई।

कश्मीर में जब आतंकवाद चरम पर था तो जेहादियों ने इस मंदिर को तोड़ दिया था। मंदिर में प्रतिष्ठित मूर्तियों को खंडित कर दिया गया था। मंदिर प्रांगण में स्थित शिवलिंग को भी धमाके से तोड़ा गया था। उसी मंदिर के पुन: जीर्णोद्धार के लिए बीते रोज कश्मीरियत जिंदा हो उठी। 

हिंदू और मुस्लिम दोनों समुदायों के सहयोग से मंदिर में फिर से पूजा शुरू की गई। हालांकि कुछ महीने पहले भू-माफिया ने मंदिर पर कब्जा करना चाहा। स्थानीय हाजी अब्दुल हमीद ने कहा कि जब पता चला कि इस पर भूमाफिया कब्जा कर रहा है तो हम सभी ने मिलकर विरोध जताया और यहां धरना दिया, क्योंकि यह हमारे कश्मीरी भाइयों की अमानत है। मरम्मत कार्य की निगरानी कर रहे राजन नखासी ने बताया कि ऑल पार्टी माइग्रेट कोऑर्डिेनेशन कमेटी और अन्य कश्मीरी पंडित संगठनों ने मंदिर को बचाने के लिए हर जगह दरवाजा खटखटाया।

कमेटी के अध्यक्ष विनोद पंडित ने कहा कि मंदिर की मरम्मत का काम चरणबद्ध तरीके से जारी रहेगा। इस बीच श्रद्धालु मंदिर में आकर पूजा-अर्चना कर सकते हैं। मरम्मत के बाद मूर्तियों को प्रतिष्ठित किया जाएगा।


यूपीए सरकार में महंगाई डायन दुगनी मोटी हुई

यूपीए सरकार में खाने की चीजों की कीमतों दोगुनी हो गई हैं। सरकार ने ही खुद इस बात को माना है। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक अप्रैल 2004 से अप्रैल 2012 के बीच होलसेल प्राइस इंडेक्स (WPI) में सभी चीजों की कीमतों में 63 फीसदी की बढ़ोतरी हुई।

अगर केवल खाने की चीजें देखी जाएं, तो इंडेक्स में 98 से 206.04 यानी दोगुने से भी ज्यादा बढ़ोतरी दिखाई देती है। इसका सीधा सा मतलब यह है कि आप 2004 में यूपीए सरकार के आने से पहले खाने पर जितना खर्च करते थे, अब आपको उसके दोगुने से भी ज्यादा खर्च करना पड़ रहा है।

टाइम्स ऑफ इंडिया और क्रिसिल (क्रेटिड रेटिंग एजेंसी) की 60 चीजों के बारे में की गई स्टडी में पता चला है कि केवल एक चीज सस्ती हुई है और वह है अदरक। बाकी सभी चीजों की कीमतें बढ़ी हैं। चाय, चिकन, हल्दी, प्याज, नारियल, लहसुन, अमरूद और पपीता की कीमतें 63 फीसदी से कम बढ़ी हैं।

इस महंगाई का सबसे ज्यादा असर गरीबों पर हुआ है, क्योंकि तुलनात्मक रूप से उनकी इनकम का ज्यादा हिस्सा खाने पर जाता है। बहुत मामूली सी राहत यह मानी जा सकती है कि बाकी चीजों की तुलना में अनाजों की कीमतें कम बढ़ी हैं। बाकी चीजों की कीमतों में 90 फीसदी की बढ़ोतरी की तुलना में गेहूं और चावल की कीमतों में 80 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है।

प्रोटीन वाले खाद्य पदार्थ जैसे दूध, अंडा, मीट और मछली की कीमतें दोगुने से ज्यादा बढ़ी हैं। हालांकि किचन के बजट को सबसे ज्यादा नुकसान सब्जियों की कीमतों ने पहुंचाया है। सब्जियों की कीमतों में 171 फीसदी की बढ़त हुई है। यानी अगर आप 2004 में सब्जियों पर हर महीने 3000 रुपए खर्च करते थे, तो अब आपको 5000 रुपए खर्च करने पड़ रहे हैं। पत्ता गोभी की कीमत सबसे ज्यादा बढ़ी हैं। 2004 से इसकी कीमत 6.5 गुनी हो गई हैं। भिंडी की कीमत 4.5 गुनी बढ़ी है। आलू और बैंगन की कीमतें 111 से 140 फीसदी के बीच बढ़ी हैं।

फलों की कीमतें 90 फीसदी बढ़ी हैं। हालांकि आम, संतरे, सेब और पाइन ऐपल की कीमतें दोगुनी हो गई हैं। मसालों में काली मिर्च की कीमतें सबसे ज्यादा 335 फीसदी बढ़ी हैं। कॉफी की कीमतें 269 फीसदी बढ़ी हैं।

बीयर की बोतल पर माँ काली का चित्र - भाजपा ने उठाया मुद्दा


अमेरिका में एक बीयर का नाम हिंदू देवी काली के नाम पर ‘काली मां’ रखे जाने का मुद्दा मंगलवार को राज्यसभा में उठा। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सांसदों ने यह मुद्दा उठाते हुए सरकार से भारत में अमेरिका की राजदूत को तलब करने की मांग की। बर्नसाइड ब्रीविंग कम्पनी की बीयर के बोतलों पर देवी की फोटो भी लगाई गई है।

इसे हिंदुओं की धार्मिक भावनाएं आहत करने वाला करार देते हुए भाजपा सांसद रविशंकर प्रसाद ने कहा कि संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) सरकार अमेरिका के साथ अच्छे संबंध होने का दावा करती है.. क्या वहां निर्माण के लिए कोई संहिता नहीं है।

शून्यकाल में यह मुद्दा उठाते हुए प्रसाद ने कहा कि क्या वे किसी अन्य धर्म के देवी-देवता के साथ इस तरह का बर्ताव कर सकते हैं? भाजपा के सदस्यों ने सरकार से इस मुद्दे पर तुरंत अमेरिकी राजदूत को तलब करने की मांग की। जवाब में केंद्रीय संसदीय कार्य राज्य मंत्री राजीव शुक्ला ने कहा कि वह इस बारे में जल्द से जल्द विदेश मंत्री एस. एम. कृष्णा को बताएंगे।

भाजपा का गौवंश विकास प्रकोष्ठ का जयपुर में गौ सम्मलेन

भाजपा के गौ वंश विकास प्रकोष्ठ की ओर से जून के प्रथम सप्ताह में दो दिवसीय गौ सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा।इस सम्मेलन में देश भर के गौ-विशेषज्ञ तथा गौ-रक्षण एवं संवर्धन में जुटे हुए गो-प्रेमी भाग लेंगे। सम्मेलन में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष नितिन गडकरी और वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी सहित अनेक दिग्गज विशेष रूप से उपस्थित रहेंगे। 

भाजपा के गौवंश विकास प्रकोष्ठ के प्रदेश संयोजक हरिहर लाल पारीक ने बताया कि इस सम्मेलन के दौरान प्रदेश की गौशालाओं में निर्मित पंचगव्य औषधियों के विशेषज्ञों का चिन्तन वर्ग तथा गौशालाओं के प्रतिनिधियों का विराट सम्मेलन भी सम्पन्न होगा। 

पारीक ने बताया कि इस सम्मेलन के माध्यम से आम आदमी तक पंचगव्य औषधियों तथा उत्पादों का महत्व पहुंचाने का प्रयास किया जाएगा। साथ ही गौ-वंश आधारित कृषि के बारे में भी जानकारी देंगे।

भारत एक महान और सफल लोकतंत्र - आडवाणी

बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी ने रविवार को कहा कि बीते 60 साल में देश की सबसे बड़ी उपलब्धि यह है कि इस दौरान भारत एक महान और सफल लोकतंत्र के रूप में सामने आया.

संसद की 60वीं वर्षगाठ के अवसर पर आयोजित विशेष सत्र में आडवाणी ने कहा कि देश में लोकतंत्र की सफलता का राज पार्टियों में एक दूसरे और एक दूसरे की विचारधारा को सम्मान देना है.

आडवाणी ने कहा, "हमारी सबसे बड़ी सफलता यह रही है कि इन 60 सालों में हम एक सफल और महान लोकतंत्र के रूप में सामने आए हैं. हम एक दूसरे की विचारधारा का सम्मान करते हैं और यही हमारी सफलता का कारण है."

Join our WhatsApp Group

Join our WhatsApp Group
Join our WhatsApp Group

फेसबुक समूह:

फेसबुक पेज:

शीर्षक

भाजपा कांग्रेस मुस्लिम नरेन्द्र मोदी हिन्दू कश्मीर अन्तराष्ट्रीय खबरें पाकिस्तान मंदिर सोनिया गाँधी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ राहुल गाँधी मोदी सरकार अयोध्या विश्व हिन्दू परिषद् लखनऊ उत्तर प्रदेश मुंबई गुजरात जम्मू दिग्विजय सिंह मध्यप्रदेश श्रीनगर स्वामी रामदेव मनमोहन सिंह अन्ना हजारे लेख बिहार विधानसभा चुनाव बिहार लालकृष्ण आडवाणी मस्जिद स्पेक्ट्रम घोटाला अहमदाबाद अमेरिका नितिन गडकरी सुप्रीम कोर्ट चुनाव पटना भोपाल कर्नाटक सपा आतंकवाद सीबीआई आतंकवादी पी चिदंबरम ईसाई बांग्लादेश हिमाचल प्रदेश उमा भारती बेंगलुरु अरुंधती राय केरल जयपुर उमर अब्दुल्ला डा़ प्रवीण भाई तोगड़िया पंजाब महाराष्ट्र हिन्दुराष्ट्र इस्लामाबाद धर्म परिवर्तन मोहन भागवत राष्ट्रमंडल खेल वाशिंगटन शिवसेना सैयद अली शाह गिलानी अरुण जेटली इंदौर गंगा हिंदू गोधरा कांड बलात्कार भाजपायूमो मंहगाई यूपीए साध्वी प्रज्ञा सुब्रमण्यम स्वामी चीन दवा उद्योग बी. एस. येदियुरप्पा भ्रष्टाचार हैदराबाद कश्मीरी पंडित काला धन गौ-हत्या चेन्नई तमिलनाडु नीतीश कुमार शिवराज सिंह चौहान शीला दीक्षित सुषमा स्वराज हरियाणा हिंदुत्व अशोक सिंघल इलाहाबाद कोलकाता चंडीगढ़ जन लोकपाल विधेयक नई दिल्ली नागपुर मुजफ्फरनगर मुलायम सिंह रविशंकर प्रसाद स्वामी अग्निवेश अखिल भारतीय हिन्दू महासभा आजम खां उत्तराखंड फिल्म जगत ममता बनर्जी मायावती लालू यादव अजमेर प्रणव मुखर्जी बंगाल मालेगांव विस्फोट विकीलीक्स अटल बिहारी वाजपेयी आशाराम बापू ओसामा बिन लादेन नक्सली अरविंद केजरीवाल एबीवीपी कपिल सिब्बल क्रिकेट तरुण विजय तृणमूल कांग्रेस बजरंग दल बाल ठाकरे राजिस्थान वरुण गांधी वीडियो हरिद्वार असम गोवा बसपा मनीष तिवारी शिमला सिख विरोधी दंगे सिमी सोहराबुद्दीन केस इसराइल एनडीए कल्याण सिंह पेट्रोल प्रेम कुमार धूमल सैयद अहमद बुखारी अनुच्छेद 370 जदयू भारत स्वाभिमान मंच हिंदू जनजागृति समिति आम आदमी पार्टी विडियो-Video हिंदू युवा वाहिनी कोयला घोटाला मुस्लिम लीग छत्तीसगढ़ हिंदू जागरण मंच सीवान

लोकप्रिय ख़बरें

ख़बरें और भी ...

राष्ट्रवादी समाचार. Powered by Blogger.

नियमित पाठक

Google+ Followers