ताज़ा समाचार (Fresh News)

44 लाख 50 हजार मंदिर सरकार के नियंत्रण में जबकि मस्जिद और चर्च एक भी नहीं - स्वामी

‘रोटरी क्लब ऑफ म्हापसा’ द्वारा आयोजित अर्पण व्याख्यान माला में ‘क्या न्यायव्यवस्था का एक ही मार्ग रह गया है ?’ विषय पर बोलते हुए डॉ. सुब्रह्मण्यम् स्वामी ने प्रतिपादित किया कि देश के ४४ लाख ५० सहस्र मंदिरों को सरकार द्वारा नियंत्रण में लिया गया है; जबकि एक भी मस्जिद अथवा चर्च नियंत्रण में नहीं लिया गया । मंदिर की कुल आयमें से केवल ६ से ७ प्रतिशत निधि मंदिर की व्यवस्था पर व्यय की जाती है । शेष निधि भ्रष्टाचार द्वारा हडप की जाती है । मंदिरों से प्राप्त निधि हज यात्राके लिए दी जाती है । संसद, प्रशासन एवं पत्रकारिता लोकतंत्रके ये तीन स्तंभ ढह गए हैं । उन्हें खडा करने के लिए न्यायसंस्था उत्तम पर्याय है । इस पर्याय का उचित उपयोग कर न्यायालयीन अंकुश द्वारा पूरी बिगडी व्यवस्था में सुधार लाना संभव है । 

इस अवसर पर डॉ. स्वामीने श्रोताओं को रामसेतु का तोडना एवं केरल के नटराज मंदिर का सरकारी करण रोकने हेतु सफलता पूर्वक की गई न्यायालयीन लडाई के संदर्भ में बताया ।

डॉ. स्वामीने कहा, ‘भ्रष्टाचार तथा काम के बोझ के कारण जनप्रतिनिधि साधारण जनता की समस्याओं पर समाधान नहीं ढूंढ पाते । प्रशासकीय तंत्र भ्रष्टता से ग्रसित हैं । ऐसी स्थितिमें न्यायालय में जाना ही उपयुक्त पर्याय सिद्ध होता है । जो लोग न्यायालय में नहीं जा सकते उनके लिए न्यायालय ने जनहित की दृष्टि से वर्ष १९८१ में न्यायालय में जाने का अधिकार दिया । तदुपरांत जनहित याचिका का पर्याय आया । केवल भारत में जनहित याचिका प्रविष्ट करने का अधिकार है, जो देश में अधिकाधिक जागृत शिक्षित वर्ग सिद्ध होने का परिणाम है । मैंने २-जी स्पेक्ट्रम घोटाले के विरुद्ध न्यायालय में याचिका प्रविष्ट की थी, जिसके फलस्वरूप न्यायालय ने सरकार द्वारा दिया गया २-जी स्पेक्ट्रम का ठेका निरस्त कर दिया ।’

न्यायालयीन लडाई द्वारा डॉ. सुब्रह्मण्यम् स्वामी का हिंदुओं को न्याय दिलाने के उदाहरण:

डॉ. स्वामीने कहा,

१. ‘रामद्वारा सेतु का निर्माण कार्य किया गया, यह सत्य इतिहास है । हिंदुद्वेषी करुणानिधि ने ऐसा सेतु तोडने का निर्णय लिया । इसके विरुद्ध याचिका प्रविष्ट कर मैंने न्यायालय को पटाया कि सेतुसमुद्रम् प्रकल्प किस प्रकार से व्ययकारी (खर्चीला) है । इसलिए न्यायालय ने यह प्रकल्प रोका ।

२. केरल के चिदंबरम् गांव में १ सहस्र ५०० वर्ष पूर्वका नटराज मंदिर सरकार द्वारा नियंत्रण में लिया गया था । वहां पूजा करनेवाले पुजारियों को मंदिर से हटा दिया गया था । इसके विरुद्ध मैंने न्यायालयीन लडाई की एवं मंदिर का प्रशासन वापस न्यासियोंको देने के लिए बाध्य किया । पूजा करना भक्त का अधिकार है । धर्मनिरपेक्ष सरकार मंदिर कैसे चला सकती है ? भविष्य में कोई सरकार मंदिर का व्यवस्थापन हाथ में लेने का साहस नहीं करेगी ।

गाय माता को काटने वाला हमारा भाई कैसे हुआ ?

२० जनवरी को  प.पू. तात्यासाहेब कोटनीस महाराज की ९० वें पुण्यतिथि उत्सव के निमित्त आयोजित ‘हिंदु राष्ट्र की आवश्यकता’ विषयपर मार्गदर्शन करते समय हिंदू जनजागृति समिति के पश्चिम महाराष्ट्र समन्वयक श्री. मनोज खाडये ने स्पष्ट रूप से प्रश्न उपस्थित करते हुए कहा कि प्रतिदिन नए-नए पशुवधगृहों का निर्माण कार्य हो रहा है । जो लोग भूमाता, स्वमाता एवं गोमाता का वंदन करते हैं, उन्हें हम हमारे अपने मानते हैं । निरपेक्षतावादी राजनेता हिंदू-मुसलमान भाई-भाई ऐसी भ्रामक कल्पनाओं को हमारे गले उतारने का प्रयास कर रहे हैं; परंतु हमारी माता समान गाय को जो काटता है, वह हमारा बंधु कैसे हो सकता है ? आरंभ में प.पू. गुरुनाथ कोटनीस महाराजद्वारा श्री. खाडये का सम्मान किया गया । 

श्री. खाडये ने स्वतंत्राप्राप्ति के पश्चात हुई देश की दुरावस्था के संदर्भ में जानकारी देकर कहा कि कांग्रेसी राजनेताओं के कारण ही देश की पहचान भ्रष्टाचारी एवं बलात्कारी के रूपमें हो गई है । हिंदु धर्म पर होने वाले विविध आघातों की जानकारी देकर उन्होंने आवाहन किया कि राजनेताओं को झुकाने हेतु हिंदुओं को दबावगुट स्थापित करना चाहिए । धर्मशिक्षा के अभाव के कारण हिंदुओं में धर्माभिमान नहीं है । 

इसके लिए प्रत्येक को धर्मशिक्षा लेकर प्रतिदिन न्यूनतम एक घंटा धर्मके लिए देना अपेक्षित है । उत्सव में होने वाली अनुचित घटानाएं टालकर ‘हिंदु राष्ट्र’ की स्थापना करने हेतु कार्यरत हिंदू जनजागृति समिति के कार्यमें यशाशक्ति साम्मिलित होना चाहिए । 

मार्गदर्शन सुननेपर अनेक लोगों द्वारा श्री. खाडये के  मार्गदर्शन की दृक्श्राव्य चक्रिका की मांग की गई ।

पढ़िए कौन करा रहा है मंदिर के पुजारियों का बीमा

मंगलवार को शिवपुरी स्थित टूटीयां वाला मंदिर के पुजारियों का दुर्घटना बीमा करवा श्री हिंदू न्यायपीठ ने पुजारियों को कागज सौंपे। पीठ प्रवक्ता प्रवीण डंग ने बताया कि मंदिरों के पुजारियों के लिए दुर्घटना बीमा का हेल्पलाइन नंबर 92561-09700 है। इस नंबर पर मंदिरों में हिंदू धर्म का प्रचार करने वाले पुजारी संपर्क करके अपना दुर्घटना बीमा करवा सकते है। विदित रहे कि पुजारियों का तीन-तीन लाख रुपये का दुर्घटना बीमा करवाया जा रहा है।

इससे पूर्व सैंकड़ों बच्चों ने हनुमान चालीसा का पाठ करके हनुमान को भोग लगवाया। इस मौके पर शिवपुरी मंदिर कमेटी के अध्यक्ष वेद प्रकाश शर्मा, विशाल शर्मा, महेश शर्मा, सुरजीत जैन, कपिल देव व बिशन दास सहित अन्य भी मौजूद थे।

राष्ट्रहित के लिए हिंदुओं का एकजुट होना जरूरी - हिन्दू संगठन

प्रदेश सरकार हिंदू हितों की अनदेखी करके वोट बैंक की राजनीति केलिए हिंदू समाज को बांटने का काम कर रही है। मुस्लिम तुष्टीकरण नीति के तहत वर्ग विशेष को लाभ पहुंचाने का काम अखिलेश सरकार कर रही है। इससे हिंदुओं का सम्मान और उनका धर्म दोनों ही संकट में है। ऐसे में राष्ट्रहित के लिए हिंदुओं का एकजुट होना जरूरी है। यह बातें हिंदू युवा वाहिनी व विश्व हिंदू महासंघ की संयुक्त बैठक में प्रयाग विभाग के प्रभारी ज्ञानेंद्र प्रताप सिंह ने कही।

विश्व हिंदू महासंघ के जिलाध्यक्ष अंबिकात राय ने कहा कि हिंदू समाज के लिए गाय, गंगा, गीता पूज्यनीय है। इन पर आंच आने से पूरा राष्ट्र उद्वेलित हो जाता है। हिंदू युवा वाहिनी के जिलाध्यक्ष अनुराग सिंह ने कहा कि हिंदुत्व को मजबूत करने के लिए ग्रामीण स्तर तक संगठन को पहुंचाना जरूरी है। नगर अध्यक्ष अमित केसरवानी ने कहा कि राष्ट्र व धर्म रक्षा के लिए हिंदू दृढ़ संकल्प के साथ काम करे। उन्होंने राजदत्त हत्याकांड की जांच सीबीआइ से कराने की मांग की।

बैठक के दौरान नए पदाधिकारियों की घोषणा की गई। इसमें विश्व हिंदू महासंघ के जिला उपाध्यक्ष संतोष उपाध्याय व आशीष श्रीवास्तव, महामंत्री मनोज श्रीवास्तव, हिंदू युवा वाहिनी की नगर इकाई के संगठन मंत्री मोनू पांडेय, प्रचार मंत्री आशीष ओझा बनाए गए। ज्ञानेंद्र ने बताया कि 26 जनवरी को विश्व हिंदू महासंघ का प्रदेशीय सम्मेलन गोरखनाथ मंदिर में आयोजित है, इसमे जिला कमेटी के पदाधिकारी, हिंदू युवा वाहिनी के विभाग प्रभारी शामिल होंगे।

पीएम पद के लिए देश में नरेंद्र मोदी की लहर - लोकनीति-आईबीएन सर्वे

लोकनीति-आईबीएन के सर्वे की मानें तो पीएम पद के लिए देश में नरेंद्र मोदी की लहर है। बिहार, प. बंगाल, झारखंड और ओडिशा में आम लोगों पर हुए सर्वे में यह बात सामने आई है। इसके मुताबिक, बिहार, झारखंड में तो बीजेपी सबसे बड़े दल के रूप में उभरेगी, वहीं प. बंगाल में तृणमूल तो ओडिशा में सत्ताधारी बीजू जनता दल के ही आगे रहने के आसार हैं।

बिहार में नमो लहर

सर्वे के मुताबिक, यहां बीजेपी को 16 से 24 सीटें मिलने का अनुमान है, जबकि सत्ताधारी जेडीयू 7 से 13 सीटें जीत सकती है। लालू के आरजेडी को 6 से 10 सीटें मिल सकती हैं। बिहार में बीजेपी का वोट शेयर 14 से बढ़कर 39 फीसदी होने के आसार हैं। जेडीयू, आरजेडी का वोट शेयर घट सकता है। जेडीयू को बीजेपी के मुकाबले आधे वोट मिलेंगे। लोकजनशक्ति पार्टी का वोट प्रतिशत 5 फीसदी गिरने का अंदेशा है। राज्य में 39 फीसदी नरेंद्र मोदी को पीएम चाहते हैं। नीतीश कुमार को 15 फीसदी, राहुल को 9 फीसदी लोग पीएम देखना चाहते हैं।

प. बंगाल में ममता आगे

पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस को 20 से 28 सीटें, लेफ्ट फ्रंट को 7 से 13 सीटें और कांग्रेस को 5 से 9 सीटें मिलने के आसार हैं। बीजेपी को 2 सीटों से ज्यादा नहीं मिलेंगी। पीएम के तौर पर मोदी 18 फीसदी तो ममता 11 फीसदी लोगों की पसंद हैं।

ओडिशा में बीजेडी

ओडिशा में बीजेपी का वोट शेयर 17 से बढ़कर 25 फीसदी होने के आसार हैं, जबकि बीजेडी के वोट शेयर में 4 फीसदी और कांग्रेस के वोट शेयर में 2 फीसदी की कमी संभव है।

आप पर अनुमान

अनुमान है कि आम आदमी पार्टी पर देशभर में कांग्रेस के 0.7 पर्सेंट वोट, बीजेपी के 0.5 पर्सेंट वोट और अन्य दलों के 2.8 पर्सेंट वोट छीन सकती है। आप के वोटर्स में 18.2 पर्सेंट कांग्रेस को वोट देने वाले, 11.4 पर्सेंट बीजेपी को वोट देने वाले और 71 पर्सेंट दूसरी पार्टियों को वोट देने वाले शामिल हैं। आप के मुख्य वोटर सिख (13 पर्सेंट), शहरी (10 पर्सेंट), स्टूडेंट (09 पर्सेंट), ऊपरी तबका (08 पर्सेंट), 18-25 साल के युवा (6 पर्सेंट), ऊंची जाति (07 पर्सेंट) और मुस्लिम समुदाय (05 पर्सेंट) हैं।

कांग्रेस कोमा में, अर्थी पर रखकर जला दो - दैनिक सामना

कांग्रेस पार्टी पूरी तरह से कोमा में चली गयी है तथा उसकी अवस्था दिमाग एवं हृदय काम न करनेवाले प्राणी जैसी हो गई है । 

ऐसी चेतनाशून्य देह में प्राण फूंकने की अपेक्षा अब इस मृत देहको अर्थी पर रखकर जलाना ही ठीक रहेगा तथा देशकी जनता इस कार्य को प्रामाणिकता से करनेवाली है, `दैनिक सामना’के १८ जनवरीके संपादकीय द्वारा शिवसेना ने ऐसी आलोचना की है ।

संपादकीय में कहा गया है कि .......

१. कांग्रेस महासमिति की बैठक में राहुल गांधी की प्रशंसा की गई । कांग्रेसप्रणीत यूपीए प्रशासन ने मंदी की कालावधि में गांव गांव में विकासगंगा कैसे पहुंचाई, कांग्रेस राज में निर्धनता कैसे दूर हुई, प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह वही राग अलाप रहे हैं । यह प्रशासन की निर्लज्जता है ।

२. विका की गंगा तथा हटाई गई निर्धनता कांग्रेस के सपने में है; क्योंकि कांग्रेस कुंभकरण की नींद सोई है । कांग्रेस जो सपने में देख रही है, देश का चित्र उसके बिल्कुल विपरीत है ।

३. भ्रष्टाचार देश को निगल गया है । महंगाई से जनता त्रस्त है । निर्धनता से वह तडप/कराह रही है । हरे दहशतवाद की अजगरी कुंडली में वह झटके दे रही है । महिलाओं पर होनेवाले अत्याचारों के कारण देश की अपकीर्ति आरंभ है ।

४. यह कांग्रेसणीत यूपीए प्रशासन की विकासगंगा का कचरा है । अत: गंगा पूर्ण रूपसे प्रदूषित हो गई है । राहुल गांधी की जयकार कर यह कचरा कैसे स्वच्छ होगा ? अब नए प्रशासन को ही यह कचरा स्वच्छ करना पडेगा तथा अगला प्रशासन कांग्रेस का नहीं होगा, यह काले पत्थर पर बनाई सफेद रेखा है।


Join our WhatsApp Group

Join our WhatsApp Group
Join our WhatsApp Group

फेसबुक समूह:

फेसबुक पेज:

शीर्षक

भाजपा कांग्रेस मुस्लिम नरेन्द्र मोदी हिन्दू कश्मीर अन्तराष्ट्रीय खबरें पाकिस्तान मंदिर सोनिया गाँधी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ राहुल गाँधी मोदी सरकार अयोध्या विश्व हिन्दू परिषद् लखनऊ उत्तर प्रदेश मुंबई गुजरात जम्मू दिग्विजय सिंह मध्यप्रदेश श्रीनगर स्वामी रामदेव मनमोहन सिंह अन्ना हजारे लेख बिहार विधानसभा चुनाव बिहार लालकृष्ण आडवाणी मस्जिद स्पेक्ट्रम घोटाला अहमदाबाद अमेरिका नितिन गडकरी सुप्रीम कोर्ट चुनाव पटना भोपाल कर्नाटक सपा आतंकवाद सीबीआई आतंकवादी पी चिदंबरम ईसाई बांग्लादेश हिमाचल प्रदेश उमा भारती बेंगलुरु अरुंधती राय केरल जयपुर उमर अब्दुल्ला डा़ प्रवीण भाई तोगड़िया पंजाब महाराष्ट्र हिन्दुराष्ट्र इस्लामाबाद धर्म परिवर्तन मोहन भागवत राष्ट्रमंडल खेल वाशिंगटन शिवसेना सैयद अली शाह गिलानी अरुण जेटली इंदौर गंगा हिंदू गोधरा कांड बलात्कार भाजपायूमो मंहगाई यूपीए साध्वी प्रज्ञा सुब्रमण्यम स्वामी चीन दवा उद्योग बी. एस. येदियुरप्पा भ्रष्टाचार हैदराबाद कश्मीरी पंडित काला धन गौ-हत्या चेन्नई तमिलनाडु नीतीश कुमार शिवराज सिंह चौहान शीला दीक्षित सुषमा स्वराज हरियाणा हिंदुत्व अशोक सिंघल इलाहाबाद कोलकाता चंडीगढ़ जन लोकपाल विधेयक नई दिल्ली नागपुर मुजफ्फरनगर मुलायम सिंह रविशंकर प्रसाद स्वामी अग्निवेश अखिल भारतीय हिन्दू महासभा आजम खां उत्तराखंड फिल्म जगत ममता बनर्जी मायावती लालू यादव अजमेर प्रणव मुखर्जी बंगाल मालेगांव विस्फोट विकीलीक्स अटल बिहारी वाजपेयी आशाराम बापू ओसामा बिन लादेन नक्सली अरविंद केजरीवाल एबीवीपी कपिल सिब्बल क्रिकेट तरुण विजय तृणमूल कांग्रेस बजरंग दल बाल ठाकरे राजिस्थान वरुण गांधी वीडियो हरिद्वार असम गोवा बसपा मनीष तिवारी शिमला सिख विरोधी दंगे सिमी सोहराबुद्दीन केस इसराइल एनडीए कल्याण सिंह पेट्रोल प्रेम कुमार धूमल सैयद अहमद बुखारी अनुच्छेद 370 जदयू भारत स्वाभिमान मंच हिंदू जनजागृति समिति आम आदमी पार्टी विडियो-Video हिंदू युवा वाहिनी कोयला घोटाला मुस्लिम लीग छत्तीसगढ़ हिंदू जागरण मंच सीवान

लोकप्रिय ख़बरें

ख़बरें और भी ...

राष्ट्रवादी समाचार. Powered by Blogger.

नियमित पाठक

Google+ Followers