ताज़ा समाचार (Fresh News)

जो महिला हिजाब न पहने वो वेश्या: जॉर्डन अदालत

जॉर्डन की एक अदालत ने ऐसा फैसला सुनाया है जिसने पूरे दुनिया में बवाल मचा दिया है। ये फैसला इतना घटिया है कि पूरी दुनिया इसका विरोध कर रही है। कोर्ट ने फैसला सुनाया है कि जो महिला अपना चेहरा हिजाब में नहीं छिपाती है वह वेश्‍या है। अपने फैसले में कोर्ट ने उस फतवे का समर्थन किया है, जिसमें कहा गया था कि हिजाब न पहनने वाली महिला बुरे चरित्र की और वेश्या के समान है। 

इसके अलावा ये भी कहा गया है कि जो महिला हिजाब नहीं पहनती उस महिला को कोर्ट में बयान देने के लिये पात्र नहीं माना जा सकता। इस फैसले के बाद जॉर्डन की महिला अधिकारों वाली यूनियन गुस्‍से से भड़क उठी है। एक बयान में यूनियन ने कोर्ट के फैसले को महिलाओं के खिलाफ बताया और कहा कि यह जॉर्डन के संविधान का उल्लंघन करता है। 

यूनियन के मुताबिक संविधान आदमी और औरत की बराबरी की बात करता है। मामला दरअसल कुछ यूं है कि वकील ने एक महिला के कोर्ट में दिए बयान का विरोध किया। इसका आधार बनाया गया हिजाब का ना पहनना। वकील के मुताबिक ऐसी महिला ईमानदार नहीं हो सकती। अम्मान की शरीया कोर्ट ने वकील की इस अपील को वाजिब ठहराया। कोर्ट ने एक फतवे को अपने फैसले का आधार बनाया। 

यूनियन का कहना है कि महिलाएं क्या पोशाक पहनती हैं, यह उनका निजी मामला है जब तक इससे कोई कानून भंग नहीं होता, कोई इसे चुनौती नहीं दे सकता। यूनियन ने मांग की कि कोर्ट अपना फैसला वापस ले और पर्सनल स्टेटस लॉ को रिवाइज किया जाए। फिलहाल कोर्ट के इस फैसले का पूरी दुनिया विरोध कर रही है।

मस्जिद की छत पर जूते पहनकर घूमने पर मुस्लिमो ने देवड़ा को घेरा

मुसलमानों के वोटों के लिए कांग्रेस के संसद सदस्य मिलिंद देवरा ने मस्जिद की पक्की छत पर ही भोजन करने का निर्णय लिया था । छत पर जूते पहनकर जाने का प्रयास करने वाले देवरा को मुसलमानों ने रोका एवं उन्हें मस्जिद में ही बंदी बना लिया ।

१. नागपाडा के मस्तान बांध क्षेत्र के संत्रान मस्जिद में शाम के समय लोग नमाज हेतु इकट्ठे होते थे; किंतु उसी समय संसद सदस्य देवरा ने भोजन का प्रबंध किया था । वैसे इन कांग्रेस के लोगो ने कभी हिंदुओ के लिए भी भोजन का प्रबंध किया होगा?

२. इस भोजन के लिए अल्पसंख्यक विकास मंत्री नसीम खान, अमीन पटेल तथा मधु चव्हाण कांग्रेस के नेता भी उपस्थित थे । मस्जिद के मौलवी भी इस भोजन के लिए उपस्थित थे । 

३. ये सर्व नेता जूते पहनकर मस्जिद की पक्की छत पर घूम रहे थे । यह सूचना प्राप्त होते ही मुसलमान क्रोधित हुए । (अगर यह किसी मंदिर की छत पर हो रहा होता तो कितने हिन्दुओं को क्रोध आता ?) और वे  छत पर पहुंचे । वहां भोजन की व्यवस्था देखकर मुसलमान और भी अधिक क्रोधित हुए । 

४. मुसलमानों ने नेताओं को फटकारना प्रारंभ किया । हमारे प्रार्थनास्थल पर आपने जूते पहनकर प्रवेश किया ही कैसे ? मस्जिद में भोजन का प्रबंध कैसे किया ?, इस प्रकार के प्रश्न पूछते ही नेता मंडली संभ्रमित हो गई । 
५. मौखिक विवाद का रूपांतर धक्कामुक्की में भी शुरू हो गया । कुछ समय में ही मस्जिद के बाहर मुसलमान और अधिक संख्या में इकट्ठे होने शुरू हो गए ।

६. इस बात का पता चला है कि इस झुंड ने मिलिंद देवरा को फटकार के साथ धक्कामुक्की भी की । नसीम खान एवं अमीन पटेल को भी झुंड के इस क्रोध का सामना करना पडा । 

७. अंत में पुलिस के बीच में आने के कारण झुंड के चंगुल से मुक्त हो कर ये नेता वहां से भाग गए ।

कांग्रेस के राजनेताओं ने अब मुसलमानों की चापलूसी बंद नहीं की, तो आज उन्हें भाग दौड कराने वाले ये मुसलमान कल क्या करेंगे, इसका विचार कर उन्हें अभी ही सावधान हो जाना चाहिए ! 

हिंदुओं के तिरुपति मंदिर में ईसाई नेता जगनमोहन रेड्डी जूते पहनकर, तो शीला दीक्षित केरल के मंदिर में मोजा पहनकर जाती हैं तो उस समय निष्क्रिय हिंदु केवल देखते ही रहते हैं !

'आप' का पंजीयन हो सकता है रद्द

दिल्ली हाईकोर्ट ने निर्वाचन आयोग से आम आदमी पार्टी के पंजीयन से संबंधित जानकारी देने को कहा है। कोर्ट ने आप के पंजीयन में गड़बड़ी को लेकर एक जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए यह जानकारी मांगी है।

याचिकाकर्ता ने आरोप लगाया था कि 'आप' अपने लेटर हेड और अन्य स्थानों पर राष्ट्रीय चिह्न [अशोक चक्र] का इस्तेमाल करती है, जो कि संविधान का उल्लघंन है। 

कोई भी गैरसरकारी संस्था या व्यक्ति को अधिकार नहीं है कि वह राष्ट्रीय चिह्न का प्रयोग करे। मामले की अगली सुनावाई २ मई को होगी।

गोडसे कभी आरएसएस का हिस्सा नहीं रहे, राहुल गांधी को ज्ञान नहीं

विश्व हिंदू परिषद के केंद्रीय मार्गदर्शक मंडल में शामिल आचार्य धर्मेंद्र ने राहुल गांधी के महात्मा गांधी की हत्या में आरएसएस का हाथ होने के बयान पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी सहित देश के अन्य राजनेताओं को इतिहास का ज्ञान नहीं है। 

महात्मा गांधी की हत्या करने वाले नाथूराम गोडसे कभी आरएसएस का हिस्सा नहीं रहे। वे हिंदू महासभा से जुड़े हुए थे और अंत तक हिंदू महासभा से ही जुड़े रहे। उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी के साथ जो हुआ वो उसके लिए वे ही जिम्मेदार थे।

गोडसे जैसे को कोई संघ जैसा संगठन पैदा नहीं करता है। गांधी जैसे व्यक्तित्व पर गोली चलाना मामूली बात नहीं थी। गोडसे ने इसके लिए कितना कुछ झेला होगा। आचार्य धर्मेंद्र शनिवार को भोपाल प्रवास के दौरान मीडिया से रूबरू हुए थे। वे मीडिया से चर्चा में राहुल गांधी के उस बयान पर पूछे गए सवाल का जवाब दे रहे थे जिसमें उन्होंने महात्मा गांधी की हत्या के लिए संघ को जिम्मेदार ठहराया था।

वहीं उनसे जब पूछा गया कि प्रधानमंत्री के लिए वे राहुल या मोदी में से किसे बेहतर मानते हैं तो वे इसका जवाब टाल गए। उन्होंने कहा कि देश को लाल बहादुर शास्त्री, सरदार वल्लभ भाई पटेल, सुभाषचंद्र बोस या राजेंद्र प्रसाद जैसा प्रधानमंत्री चाहिए।

Join our WhatsApp Group

Join our WhatsApp Group
Join our WhatsApp Group

फेसबुक समूह:

फेसबुक पेज:

शीर्षक

भाजपा कांग्रेस मुस्लिम नरेन्द्र मोदी हिन्दू कश्मीर अन्तराष्ट्रीय खबरें पाकिस्तान मंदिर सोनिया गाँधी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ राहुल गाँधी मोदी सरकार अयोध्या विश्व हिन्दू परिषद् लखनऊ उत्तर प्रदेश मुंबई गुजरात जम्मू दिग्विजय सिंह मध्यप्रदेश श्रीनगर स्वामी रामदेव मनमोहन सिंह अन्ना हजारे लेख बिहार विधानसभा चुनाव बिहार लालकृष्ण आडवाणी मस्जिद स्पेक्ट्रम घोटाला अहमदाबाद अमेरिका नितिन गडकरी सुप्रीम कोर्ट चुनाव पटना भोपाल कर्नाटक सपा आतंकवाद सीबीआई आतंकवादी पी चिदंबरम ईसाई बांग्लादेश हिमाचल प्रदेश उमा भारती बेंगलुरु अरुंधती राय केरल जयपुर उमर अब्दुल्ला डा़ प्रवीण भाई तोगड़िया पंजाब महाराष्ट्र हिन्दुराष्ट्र इस्लामाबाद धर्म परिवर्तन मोहन भागवत राष्ट्रमंडल खेल वाशिंगटन शिवसेना सैयद अली शाह गिलानी अरुण जेटली इंदौर गंगा हिंदू गोधरा कांड बलात्कार भाजपायूमो मंहगाई यूपीए साध्वी प्रज्ञा सुब्रमण्यम स्वामी चीन दवा उद्योग बी. एस. येदियुरप्पा भ्रष्टाचार हैदराबाद कश्मीरी पंडित काला धन गौ-हत्या चेन्नई तमिलनाडु नीतीश कुमार शिवराज सिंह चौहान शीला दीक्षित सुषमा स्वराज हरियाणा हिंदुत्व अशोक सिंघल इलाहाबाद कोलकाता चंडीगढ़ जन लोकपाल विधेयक नई दिल्ली नागपुर मुजफ्फरनगर मुलायम सिंह रविशंकर प्रसाद स्वामी अग्निवेश अखिल भारतीय हिन्दू महासभा आजम खां उत्तराखंड फिल्म जगत ममता बनर्जी मायावती लालू यादव अजमेर प्रणव मुखर्जी बंगाल मालेगांव विस्फोट विकीलीक्स अटल बिहारी वाजपेयी आशाराम बापू ओसामा बिन लादेन नक्सली अरविंद केजरीवाल एबीवीपी कपिल सिब्बल क्रिकेट तरुण विजय तृणमूल कांग्रेस बजरंग दल बाल ठाकरे राजिस्थान वरुण गांधी वीडियो हरिद्वार असम गोवा बसपा मनीष तिवारी शिमला सिख विरोधी दंगे सिमी सोहराबुद्दीन केस इसराइल एनडीए कल्याण सिंह पेट्रोल प्रेम कुमार धूमल सैयद अहमद बुखारी अनुच्छेद 370 जदयू भारत स्वाभिमान मंच हिंदू जनजागृति समिति आम आदमी पार्टी विडियो-Video हिंदू युवा वाहिनी कोयला घोटाला मुस्लिम लीग छत्तीसगढ़ हिंदू जागरण मंच सीवान

लोकप्रिय ख़बरें

ख़बरें और भी ...

राष्ट्रवादी समाचार. Powered by Blogger.

नियमित पाठक

Google+ Followers