ताज़ा समाचार (Fresh News)

Home » , » देश में नदियों को जोड़ने की परियोजना तीव्र गति में : उमा भारती

देश में नदियों को जोड़ने की परियोजना तीव्र गति में : उमा भारती

केन्‍द्रीय जल संसाधन, नदी विकास और गंगा संरक्षण मंत्री सुश्री उमा भारती ने देश में नदियों को जोड़ने की परियोजना को तीव्र गति से अमल में लाने का आह्वान किया है। अपने मंत्रालय की संसदीय सलाहकार समिति की बैठक को संबोधित करते हुए मंत्री महोदया ने कहा कि नदियों को जोड़ने से संबंधित राष्‍ट्रीय परिप्रेक्ष्‍य योजना के अनुसार इससे 35 मिलियन हेक्‍टेयर अतिरिक्‍त भूमि को सिंचाई की सुविधा उपलब्‍ध होगी, जिससे देश में सिंचाई सुविधा प्राप्‍त भूमि का क्षेत्रफल 140 मिलियन हेक्‍टेयर से बढ़कर 175 मिलियन हेक्‍टेयर हो जाएगा। उन्‍होंने कहा कि इससे बाढ़ नियंत्रण, नौवहन, जलापूर्ति, मत्‍स्‍य पालन, लवणता एंव प्रदूषण नियंत्रण आदि लाभों के अलावा 34 हजार मेगावाट अतिरिक्‍त बिजली का भी उत्‍पादन हो सकेगा। सुश्री भारती ने कहा कि ‘‘नदियों को जोड़ने की परियोजना राष्‍ट्रीय महत्‍व की है और इसका उद्देश्‍य देश में जल के समान वितरण को सुनिश्चित करना है, जिससे बाढ़ और सूखे से प्रभावित क्षेत्रों को विशेष लाभ होगा। मैं इस राष्‍ट्रीय महत्‍व के कार्य में सभी राज्‍यों के सहयोग की अपील करती हूं।’’ उन्‍होंने कहा कि इससे देश का खाद्य उत्‍पादन बढ़ेगा और रोजगार के नये अवसर भी पैदा होंगे, जिससे देश में समृद्धि आएगी।

सुश्री भारती ने सदस्‍यों को बताया कि राष्‍ट्रीय जल विकास एजेंसी ने अब तक देश में नदियों को जोड़ने के 30 संपर्कों की पहचान की है, जिनमें से 16 संपर्क प्रायद्वीपीय क्षेत्र के हैं और 14 अन्‍य हिमालयी क्षेत्र के। उन्‍होंने कहा कि इनमें से प्रायद्वीपीय क्षेत्र के 14 संपर्कों और हिमालयी क्षेत्र के 2 संपर्कों (भारतीय भाग) की साध्‍यता रिपोर्ट तैयार कर ली गई है। 7 अन्‍य संपर्कों का सर्वेक्षण एवं अन्‍वेषण कार्य पूरा किया जा चुका है और इनकी साध्‍यता रिपोर्ट का मसौदा तैयार हो गया है। 

मंत्री महोदया ने सदस्‍यों को बताया कि विस्‍तृत परियोजना रिपोर्ट तैयार करने का कार्य शुरू करने के लिए पांच प्राद्वीपीय संपर्कों नामत: 1- केन-बेतवा, 2- पार्वती-कालीसिंध-चंबल 3- दमनगंगा-पिंजाल, 4- पार-तापी-नर्मदा और 5- गोदावरी (पोलावरम)-कृष्‍णा (विजयवाड़ा) को प्राथमिकता संपर्कों के रूप में चिन्हित किया गया है। केन-बेतवा संपर्क पर काम भी शुरू हो गया है। उन्‍होंने कहा कि दमनगंगा-पिंजाल संपर्क की डीपीआर पूरी हो चुकी है और यह आगे की कार्रवाई हेतु अप्रैल, 2014 में महाराष्‍ट्र और गुजरात सरकार को प्रस्‍तुत कर दी गई है। पार-तापी-नर्मदा संपर्क की डीपीआर तैयार की जा रही है और यह मार्च, 2015 तक पूरी कर ली जाएगी। 

सुश्री भारती ने कहा कि राष्‍ट्रीय जल विकास एजेंसी को अंत:राज्‍यीय संपर्कों के बारे में 46 प्रस्‍ताव मिले हैं। इनमें से 33 अंत:राज्‍यीय संपर्कों की पीएफआर पूरी हो चुकी हैं और वे संबंधित राज्‍य सरकारों को भेजी जा चुकी हैं। बिहार सरकार के अनुरोध पर एजेंसी ने क्रमश: दिसंबर, 2013 और मार्च, 2013 में बूढ़ी गण्‍डक-नून-बया-गंगा अंत:राज्‍यीय संपर्क परियोजना और कोसी-मेची संपर्क परियोजना की डीपीआर तैयार करके उसे आगे की कार्रवाई के लिए राज्‍य सरकार को भेज दिया है। महाराष्‍ट्र, तमिनाडु और झारखंड के लिए एक-एक अंत:राज्‍यीय संपर्क की डीपीआर तैयार की जा रही है।

बैठक में भाग लेने वाले सांसदों ने एक स्‍वर में नदियों को जोड़ने की परियोजना पर अपना समर्थन जताया। उनका कहना था कि सरकार को इस कार्यक्रम को एक मिशन के तौर पर लेना चाहिए और इसे एक निश्चित समय सीमा में पूरा करना चाहिए। एक सदस्‍य का कहना था कि कुछ क्षेत्रों में इस कार्यक्रम को लेकर व्‍यक्‍त की गई शंकाओं के कारण इसे लेकर पर्याप्‍त गंभीरता का वातावरण नहीं बन पा रहा है। एक अन्‍य सदस्‍य का कहना था कि इस परियोजना को लागू करते समय हमें इसके पर्यावरणीय, पारिस्थितिकीय और सामाजिक पहलुओं को नजर अंदाज नहीं करना चाहिए। एक अन्‍य सदस्‍य का सुझाव था कि सरकार को नदियों के राष्‍ट्रीयकरण पर गंभीरता से विचार करना चाहिए। सदस्‍यों ने कृष्‍णा-गोदावरी संपर्क, गंगा-गोमती संपर्क, शारदा-यमुना संपर्क, पिंडारी-कोसी संपर्क, नदियों को जोड़ते समय रबड़ बांधों का निर्माण और बिहार की फल्‍गु न‍दी को जोड़ने जैसे कुछ अन्‍य सुझाव भी दिए।

सदस्‍यों को उनके सुझावों के लिए धन्‍यवाद देते हुए सुश्री उमा भारती ने उनसे अनुरोध किया कि वे संसद के दोनों सदनों में नदियों को जोड़ने की परियोजना से संबंधित मुद्दे और प्रश्‍न उठाएं ताकि देश का ध्‍यान इस ओर आकर्षित हो। 

निम्‍नलिखित सदस्‍यों ने बैठक में भाग लिया – 

श्री ए टी नाना पाटिल, श्री अधिर रंजन चौधरी, श्री अजय टमटा, श्रीमती अंजु बाला, श्री बहादुर सिंह कोली, श्री धर्मबीर भालेराम, श्री गजेन्‍द्र सिंह शेखावत, श्री हेमंत तुकाराम गोडसे, डॉ. कृष्‍ण प्रताप सिंह, श्री कृस्‍तपा निम्‍मला, श्रीमती रक्षा निखिल खडसे, श्री सुनील कुमार मंडल, श्री अश्विनी कुमार चौबे (सभी लोकसभा से) और श्री राम नारायण दुड़ी (राज्‍यसभा)। 

केन्‍द्रीय जल संसाधन, नदी विकास और गंगा संरक्षण राज्‍य मंत्री प्रो. सांवरलाल जाट, मंत्रालय के सचिव श्री अनुज कुमार बिश्‍नोई और मंत्रालय के अन्‍य वरिष्‍ठ अधिकारियों ने भी बैठक में भाग लिया। 

0 comments :

Post a Comment

Join our WhatsApp Group

Join our WhatsApp Group
Join our WhatsApp Group

फेसबुक समूह:

फेसबुक पेज:

शीर्षक

भाजपा कांग्रेस मुस्लिम नरेन्द्र मोदी हिन्दू कश्मीर अन्तराष्ट्रीय खबरें पाकिस्तान मंदिर सोनिया गाँधी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ राहुल गाँधी मोदी सरकार अयोध्या विश्व हिन्दू परिषद् लखनऊ उत्तर प्रदेश मुंबई गुजरात जम्मू दिग्विजय सिंह मध्यप्रदेश श्रीनगर स्वामी रामदेव मनमोहन सिंह अन्ना हजारे लेख बिहार विधानसभा चुनाव बिहार लालकृष्ण आडवाणी स्पेक्ट्रम घोटाला मस्जिद अहमदाबाद अमेरिका नितिन गडकरी पटना भोपाल सुप्रीम कोर्ट चुनाव कर्नाटक सपा आतंकवाद सीबीआई आतंकवादी पी चिदंबरम ईसाई बांग्लादेश हिमाचल प्रदेश उमा भारती बेंगलुरु अरुंधती राय केरल जयपुर उमर अब्दुल्ला पंजाब महाराष्ट्र हिन्दुराष्ट्र इस्लामाबाद डा़ प्रवीण भाई तोगड़िया मोहन भागवत राष्ट्रमंडल खेल वाशिंगटन शिवसेना सैयद अली शाह गिलानी अरुण जेटली इंदौर गंगा धर्म परिवर्तन हिंदू गोधरा कांड बलात्कार भाजपायूमो मंहगाई यूपीए सुब्रमण्यम स्वामी चीन बी. एस. येदियुरप्पा भ्रष्टाचार साध्वी प्रज्ञा हैदराबाद कश्मीरी पंडित काला धन गौ-हत्या चेन्नई दवा उद्योग नीतीश कुमार शिवराज सिंह चौहान शीला दीक्षित सुषमा स्वराज हरियाणा हिंदुत्व अशोक सिंघल इलाहाबाद कोलकाता चंडीगढ़ जन लोकपाल विधेयक तमिलनाडु नई दिल्ली नागपुर मुजफ्फरनगर मुलायम सिंह रविशंकर प्रसाद स्वामी अग्निवेश अखिल भारतीय हिन्दू महासभा आजम खां उत्तराखंड फिल्म जगत ममता बनर्जी मायावती लालू यादव अजमेर प्रणव मुखर्जी बंगाल विकीलीक्स आशाराम बापू ओसामा बिन लादेन नक्सली मालेगांव विस्फोट अटल बिहारी वाजपेयी अरविंद केजरीवाल एबीवीपी कपिल सिब्बल क्रिकेट तरुण विजय तृणमूल कांग्रेस बजरंग दल बाल ठाकरे राजिस्थान वरुण गांधी वीडियो हरिद्वार गोवा बसपा मनीष तिवारी शिमला सिख विरोधी दंगे सिमी सोहराबुद्दीन केस असम इसराइल एनडीए कल्याण सिंह पेट्रोल प्रेम कुमार धूमल सैयद अहमद बुखारी अनुच्छेद 370 जदयू भारत स्वाभिमान मंच हिंदू जनजागृति समिति आम आदमी पार्टी विडियो-Video हिंदू युवा वाहिनी कोयला घोटाला मुस्लिम लीग छत्तीसगढ़ हिंदू जागरण मंच सीवान

लोकप्रिय ख़बरें

ख़बरें और भी ...

राष्ट्रवादी समाचार. Powered by Blogger.

नियमित पाठक

Google+ Followers